शासन हर स्तर पर धार्मिक स्थलों की देख रेख के लिए तत्पर है- गड़रिया

0
64

रितेश गुप्ता, थांदला

तहसील क्षेत्र के समस्त मंदिरों तथा उनकी भूमियों की सुरक्षा, व संधारण हेतु शासन हर स्तर पर तत्पर है। सम्बंधित मंदिर पुजारी मंदिरों के जीर्णोद्धार, ओर भूमियों के सीमांकन का आवेदन करते है तो तुरंत ही आवेदन अनुसार कारवाही की जाएगी। उक्त बात थांदला तहसीलदार ललिता गड़रिया ने कलेक्टर रोहित सिंह के निर्देश पर गुरुवार को तहसील प्रांगण में थांदला क्षेत्र के मंदिरों के पुजारियों को संबोधित करते हुए कही। तहसीलदर गडरिया ने शासन की मंशानुसार मंदिर भूमियों जिन पर दबंगो द्वारा अतिक्रमण किया जा चुका है पर अभियान चला कर मंदिर भूमियों को शीघ्र अतिक्रमण मुक्त करवाने का आश्वासन दिया। स्थानीय लक्ष्मी नारायण मंदिर पुजारी पंडित उमेश शर्मा ने पुजारियों का पक्ष रखते हुए कहा कि मन्दिर भूमिया कागजी रिकॉर्ड में तो सीमांकन हो जाती किंतु धरातल पर आज भी अतिक्रमणकर्ताओं का कब्जा है अतः शासन द्वारा संचालित ओर संधारित मंदिर जिनके व्यवस्थापक पदेन कलेक्टर होते है को सख्ती से कारवाही करना चाहिए। खजूरी शंकर व नरसिंह मंदिर पुजारी पंडित मनोज चतुर्वेदी ने जीर्णोद्धार सम्बन्धी आ रही तकनीकी त्रुटियों को अवगत करवाते हुए जीर्णोद्धार प्राक्कलन व जीर्णोद्धार कार्य हाऊसिंग बोर्ड से स्थानीय विभाग जिनमे नगरीय निकाय,जनपद,आरईएस,अथवा पीडब्ल्यूडी से करवाए जाने का पक्ष रखते हुए बताया कि पूर्व में जिर्णोधार हुए मंदिरों के पूर्णता प्रमाण पत्र अभी तक नही दिए गए ओर न ही जीर्णोद्धार हेतु नवीन स्टीमेट बनने का कार्य हो पा रहा कारण यह कि हाऊसिंग बोर्ड कार्यालय झाबुआ में हो कर वहाँ इंजीनियर कोई धार,अलीराजपुर,तो कोई इंदौर से अपडाउन करते है। इस अवसर पर पुजारी कैलाश गिरी,धार्मिक आचार्य, आदि मौजूद थे। तहसीलदार ललिता गड़रिया ने पुजारियों की समस्याओं को सुन स्थानीय स्तर की समस्याओं का शीघ्र निराकरण करने की बात कही तथा जिला स्तर की समस्याओं को कलेक्टर को अवगत करवाकर निराकरण की मांग की। आयोजित बैठक में पुजारियों की त्रैमासिक बैठक आयोजित करने संबंधी बात भी पुजारियों द्वारा की गई।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here