कांग्रेस सरकार ने की कृषि उपजों के भावों में 400 फीसदी तक की बढ़ोतरी,  किसानों की भलाई के लिए कांग्रेस कोई कमी नहीं रहने देगी : भूरिया

0
67

  झाबुआ । रतलाम, झाबुआ और आलीराजपुर संसदीय क्षेत्र के कांग्रेस प्रत्याशी एवं सांसद कांतिलाल भूरिया ने आज बयान जारी कर कहा है कि कांग्रेस और उसकी राज्य सरकार किसानों के हितों को पहली प्राथमिकता दे रही है। वह किसानों की भलाई में अपनी तरफ से कोई कमी नहीं रहने देगी। आपने कहा-मुख्‍य मंत्री कमलनाथ के नेतृत्‍व में म.प्र. की कांग्रेस सरकार ने कृषि उपजों (जिंस) के मॉडल भावों में प्रति क्विंटल 400 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी की है। इन दिनों राज्‍य के लाखों किसानों को इस बढ़ोतरी का लाभ मिल रहा है। भूरिया ने कहा है कि भाजपा की प्रदेश सरकार ने खेती को लाभ का धंधा बनाने की घोषणाएँ तो बहुत कीं, किन्‍तु वास्‍तव में ऐसा एक भी कदम नहीं उठाया, जो इन घोषणाओं को मूर्तरूप देकर किसानों को सीधा फायदा दे सके। दरअसल भाजपा सरकार का 15 साल का लंबा कार्यकाल किसानों के लिए छलावे का कार्यकाल रहा है परन्‍तु कांग्रेस की कमलनाथ सरकार ने सत्‍ता सम्‍हालने के कुछ दिन बाद ही गेहूँ, मक्का, बाजरा, जुवार आदि 15 कृषि उपजों (जिंन्‍स) के मॉडल भावों में काफी बढ़ोतरी करके किसानों के हित में बड़ा कदम उठाया है।    बयान में मॉडल भावों में बढ़ोतरी की तुलनात्‍मक जानकारी देते हुए कहा गया है कि भाजपा के शासन काल में 29 अप्रैल 2018 को बाजरे का सरकारी भाव 1020 रूपये प्रति क्विंटल था। कांग्रेस सरकार द्वारा की गई वृद्धि के पश्‍चात 29 अप्रैल 2019 को यह भाव 1954 रूपये हो गया है, जो कि पिछले भाव की तुलना में 95 प्रतिशत अधिक है। इसी प्रकार कांग्रेस सरकार द्वारा मक्‍का के भाव 80 प्रतिशत, तिल के भाव में 55 प्रतिशत और जुवार के भाव में 45 प्रतिशत की बढ़ोतरी की गई है। लहसून के प्रति क्विंटल भाव 803 रूपये को बढ़ाकर 3635 रूपये कर दिया गया है। लहसून के भाव में 400 प्रतिशत की  वृद्धि कांग्रेस सरकार ने की है। भाजपा सरकार ने टमाटर का भाव केवल 525 रूपये तय किया था, इस तरह कांग्रेस सरकार ने जिसमें 150 प्रतिशत की बढ़ोतरी कर मॉडल भाव 1380 रूपये निर्धारित किया है। सांसद कांतिलाल भूरिया ने अन्‍य कृषि उपजों के मॉडल भावों में भी उल्‍लेखनीय वृद्धि की जानकारी देते हुए कहा है कि कपास के भाव में 30 प्रतिशत, उड़द के भाव में 27 प्रतिशत, तुअर के भाव में 23 प्रतिशत, धान के भाव में 15 प्रतिशत, चने के भाव में 11 प्रतिशत तथा गेहूँ और मसूर के भाव में 10 प्रतिशत की बढ़ोतरी कांग्रेस सरकार द्वारा की गई है। इनके अलावा सोयाबीन और सरसो के भाव में भी क्रमश: 8 और 5 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।   उक्त जानकारी जिला कांग्रेस प्रवक्ता हर्ष भट्ट ने दी।