सांसद भूरिया ने की तेंदुए हमले में मृत व घायल के मुआवजे की मांग

झाबुआ लाइव डेस्क। गुरूवार को रानापुर क्षेत्र के ग्राम लंबेला के जंगल में तेंदुए ने एक महिला सहित पांच अन्य पर हमला कर बुरी तरह घायल कर दिया। मोके पर पहुंचा वन विभाग का स्थानीय अमला तेंदुए पर काबू पाने में पूरी तरह नाकाम रहा। बाद में इंदोर व अन्य जगहों की टीम भी तेंदुए को पकड़ने में समाचार लिखे जाने तक पूरी तरह नाकाम रही। इस कारण लंबेला के आसपास के क्षेत्रों में ग्रामीणों में भय व्याप्त हो गया है। सांसद कांतिलाल भूरिया ने इस घटना को गंभीरता से लेते हुए वन विभाग के आला अधिकारियो से चर्चा कर तेंदुए को तत्काल पकड़ने की बात कही। 48 घंटे बीत जाने के बाद भी तेंदुए को न पकड़े पाने को लेकर गहरी नाराजगी भी व्यक्त की। शनिवार को एक घायल की मृत्यु भी हो गई है। कांतिलाल भूरिया, जिला पंचायत कलावती भूरिया, युवा नेता डाॅ. विक्रांत भूरिया, रानापुर नगर पालिका अध्यक्ष कैलाश डामोर, बाबू सरपंच, जनपद उपाध्यक्ष कसु पति उदा आदि ने जिला प्रशासन एवं वन विभाग द्वारा घोर लापरवाही किए जाने पर कडे शब्दों में निंदा की है तथा सांसद कांतिलाल भूरिया एवं कलावती भूरिया ने जिला प्रशासन एवं वन विभाग से मृतक के परिवार को दस लाख रूपये देने का तथा गंभीर रूप से घायलों को पांच लाख रुपए का मुआवजा देने एवं उनके उचित इलाज की मांग की है। भूरिया ने यह भी मांग की है कि इस आदिवासी बहुल जिले में ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो इसके लिए प्रशासन द्वारा उचित कदम उठाए जाए। कलावती भूरिया ने रानापुर ब्लाक के कांग्रेस के पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं एवं स्थानीय प्रषासन से इस ओर पूरी नजर रखने की बात कही तथा क्षेत्र के भयग्रस्त ग्रामीणों को सुरक्षा देने की भी बात कही।