Top

व्यायाम शाला भवन तोड़ने व उसके सामान की चोरी करने वालो के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग

0

पियुष चंदेल, अलीराजपुर

 शासकीय भवन में चल रही व्यायाम शाला को तोडकर उसकी साम्रगी चोरी करने वाले के खिलाफ नपा के पूर्व उपाध्यक्ष व श्री पवन पुत्र व्यायाम शाला अध्यक्ष ने पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन दिया हैं। ज्ञापन में बताया गया है कि श्री पंचेश्वर महादेव मंदिर परिसद में स्थित शासकीय धर्मशाला जिसमें सुव्यवस्थित तौर पर जन स्वास्थ्य हेतु श्री पवनपुत्र व्यायाम शाला संचालित होती थी, जिसका आगे का सिर्फ कुछ अग्रभाग क्षतिग्रस्त था बाकी का पुरा भवन तीन फुट चौडी दिवार से बना था, जिसमें सागवान की मोटी लकडीयो के पाट कै उपर पतरो की छत बनी थी, इसमे सागवान लकडी के दरवाजे थे ये पुरी संम्पत्ति शासकीय थी, जिसे अचानक कुछ अराजक व असामाजिक तत्वो ने षडयंत्र कर तोड दिया व इसमें लगी पुरी सामग्री चोरी कर ली है, शासन प्रशासन की बिना अफरा तफरी कर इस सामान को हडप लिया है। साथ ही इस भवन के चारो और बनी दिवारे जिसके अंदर श्री पवनपुत्र हनुमान जी का मंदिर सुरक्षित था इस बाउंड्री वाल को भी पूर्णतया ध्वस्त कर पवनपुत्र हनुमान मंदिर को धुल धुए आवारा जानवरो से अपवित्र होने का अधार्मिक कुकृत्य किया है।यह की इस भवन तथा बाउड्ी वाल को तोडने वाले आज आन पेपर प्रशासन के सामने स्विकार कर चुके है कि ये कुकृत्य और चोरी उन्होने की है।  मंगलवार को जनसुनवाई मे एडीएम सुरेश वर्मा को दिये आवेदन में कतिपय तत्व उपस्थित हुए थे तथा उन्होने जो आवेदन दिया है उसमें इस शासकीय भवन को तोडने वाले के हस्ताक्षर तथा नाम मौजुद है।यह की विगत जनसुनवाई में कलेक्टर को जनसुनवाई मे उक्त शासकीय भवन जिसमे श्री पवनपुत्र हनुमान व्यायाम शाला विगत 5 दशक से संचालित होती थी को अवेध रूप से तोडने की शिकायत नामजद की थी जिसमें एक समिति का नाम भी था जिस पर कलेक्टर ने इसकी जॉच कर तत्काल एफआईआर करने के निर्देश शासकीय भवनो तथा भुमि के अधिकृत अधिकारी के तौर पर दिये थे जिस पर पुलिस को रिपोर्ट दर्ज करना थी संभवतः इसकी जॉच कर दोषियो को खोजा जा रहा होगा परन्तु आज वे स्वयं स्विकार कर चुके है अतः अब पुलिस के सामने आरोपी सामने आ चुके है इनके खिलाफ शासकीय भवन तोडने, भवन की सामग्री चोरी करने और श्री पवनपुत्र हनुमान जी भगवान को अपवित्र करने के कुकृत्य का मुकदमा जॉच में सामने आ चुके दोषियो के खिलाफ दर्ज किया जाये ताकी भविष्य में उदाहरण कायम हो।

शहर की करोड़ो की शासकीय बहुमूल्य भूमि पर कब्जा करने वालो के खिलाफ कार्यवाही की मांग

. शासकीय भुमि व नगरपालिका की भुमि पर जबरजस्त अतिक्रमण कर यातायात रोकने व भुमि पर कब्जा करने के खिलाफ पूर्व नगरपालिका उपाघ्यक्ष विक्रम सेन ने नगर पालिका सीएमओ तथा पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन दिया जिसमें मांग कि गई अलीराजपुर के अति व्यस्त मार्ग हॉस्पिटल रोड पर पर संजय पिता नारायण गुप्ता ने मुख्य मार्ग पर अपने ठेकेदारी के उपकरण वर्षो से रख रखे है, वही 30 फीट तक की बहुमुल्य शासकीय भुमि पर पक्का कब्जा भी अपने मकान के आगे कर लिया है, बहारपुरा में रहने वाले समाज विषेष का पदाधिकारी है जिसके कारण ये व्यक्ति बिसियो साल से शहर के मुख्य मार्ग पर अपने वाहन कंडम मशीने रखकर स्थाई कब्जा रखे हुये है, इस कारण इस राज्य मार्ग पर अक्सर दुर्घटना होती रहती है। और दिन भर जाम यहा लगता रहता है, जनहित में नागरिक सुरक्षा हेतू इस असामाजिक व्यक्ति का शासकीय भुमि को मुख्य मार्ग पर अतिक्रमण करने के खिलाफ कडी कार्यवाही की जावे साथ ही इसका कब्जा तत्काल हटाया जावे। इसमे यह भी बताया गया है की अलिराजपुर नगर के मध्य महात्मा गांधी मार्ग पर श्री आचार्य मंदिर के सामने प्रस्तावित आजाद प्लाजा की अति बहु मुल्य भुमि पर राजु पिता कैलाष उपाध्याय ने कब्जा कर लिया है इसने बिना अनुमति के अपनी दुकान का दरवाजा दक्षिण दिषा में कर शासकीय भुमि पर कब्जा कर रखा है इस कब्जे हेतु इसने अपने समाज के फलेक्स का उपयोग किया हुआ है ताकी कोई भी प्रषासकिय कार्यवाही में अपने समाज के पदाधिकारी होने के नाम का डर दिखा सके। यह अतिक्रमणकर्ता भी संजय गुप्ता की तरह पक्का कब्जा व शेड बना लेगा और फिर दुकानदारी करेगा।
यह कि यह दोनो व्यक्ति शासकिय भुमि पर अतिक्रमण कर करोडो की बहुमुल्य भुमि पर कब्जा कर स्वहित कर रहे है तथा जनहित एवं जनसुरक्षा से इनका कोई लेना देना नही है। इन दोनो ने अपने असामाजिक तत्वों वाले साथियो के साथ मिलकर श्री पवनपुत्र व्यायाम शाला भवन तथा सुरक्षा दिवाल तोडकर यहॉ भी अतिक्रमण करना चाहते है, तथा सर्वसमाज का नाम लेकर स्वहित में ये माहिर तत्व है इन अतिक्रमणकर्ताओ के खिलाफ प्रशासन तत्काल कड़ी कार्यवाही करे। इस तरह ज्ञापन में जनहित तथा प्रषासन के हित में इनके खिलाफ तत्काल कडी कार्यवाही करने का निवेदन किये जाने की मांग की गई है।

)

Leave A Reply

Your email address will not be published.