ताजियों पर अकीदत के सेहरे; धर्मालुजनो ने की ताजियों की जियारत; देर रात 12 बजे बाद निकला जुलूस

0
430

सलमान शैख़@ पेटलावद
आज जहां देश मे कही मजहब और उतनी ही जाति के लोग स्वतंत्र होकर अपनी दिनचर्या चलाते त्योहार, शादी ब्याह अपनी रिती रिवाज से करते उसी समन्दर को एक सूर में हिन्दुस्तान जिन्दाबाद कहा जाता है। इसका जीता जागता उदाहरण पेटलावद में नजर आ रहा है। हिंदू-मूस्लिम साथ मिलकर शहीदाने कर्बोबला की याद में मोहर्रम पर्व मना रहे है।
मोहर्रम के पाक महीने की नवमी पर मुसलमानों पर हुसैनी रंगत छाई रही। मोहर्रम की 9 तारीख सोमवार को रात में ताजियों की जियारत का दौर चला। देर रात तक या हुसैन की सदाएं गूंजती रहीं। कड़ी सुरक्षा के बीच अकीदतमंदों ने ताजियों की जियारत की। बिजली की चकाचौंध से इमाम चौक गुलजार रहे। ढोल—ताशों की मातमी धुनें बजाकर अकीदतमंदों ने हजरत इमाम हुसैन की शहादत को याद किया। हुसैनी चौक में यहां वर्षो से ताजिया बनाने की रस्म चली आ रही हैं। यहां जियारत के लिए धर्मालुजन उमड़ेे। जायरीनो ने बड़ी संख्या में पहुंचकर लोबान और चिरौंजी चढ़ा कर जियारत की। इसके बाद शहर में मुहर्रम नगर भ्रमण पर निकले। जो नगर के प्रमुख मार्गों से होकर गुजरे।
आज मनाया जाएगा यौमे आशुरा-
आज यौमे आशूरा मनाया जाएगा और कर्बला में ताजियों को सुपुर्दे खाक किया जाएगा। यौमे आशुरा के पवित्र दिन में शहर के विभिन्न मुस्लिम इलाकों से ताजियों का जुलूस निकलेगा। दोपहर 2 बजे से ताजियों का चल समारोह निकलेगा। इसके बाद कर्बला में पहुंचकर सुपूर्दे खाक किया जाएगा।
पुराने रुट से पूरे नगर से होकर करबला लोटेगा जुलूस-
सदर राहिल रजा मंसूरी ने बताया मोहर्रम का जुलूस मंगलवार को जोहर की नमाज के बाद दोपहर 2 बजे करीब निकला जाएगा। जुलूस देर रात साढ़े 11 बजे के आसपास कर्बला पहुंचेगा। जहां शहर के सभी धर्मावलंबी आकर दर्शन करेंगे।
राजापुरा और भोई मोहल्ले, भगतसिंह मार्ग के ताजिए मिलेंगे झंडा बाजार में-
नगर में निकलने वाले ताजियो की शुरूआत राममोहल्ले से होगी, इसके बाद राजापुरा से होकर सभी ताजिए झंडा बाजार आएंगे, यहां मुकाम रखने के बाद भोई मोहल्ले के ताजियो का मुकाम उठाया जाएगा। इधर..भगतसिंह मार्ग पर बने ताजिए का भी मुकाम उठाया जाएगा। ये सभी ताजिए झंडा बाजार में एकत्रित होंगे। यहां भाई मोहल्ले से आने वाले ताजियो को छोडक़र सभी जगहो के ताजिए मिलाकर गणपति चौक पहुंचेंगे। उधर से बुर्राक भी अपने मुकाम पर गणपति चौक पहुंचेंगी। जहां सभी का मुकाम होगा। अम्बिका चोक होते हुये वडलीपाड़ा, सिर्वी मोहल्ला, चमठा चौक, महांकाल पथ होते हुए गणपति चौक सिटी केमिस्ट के पास मुकाम होगा। यहां से मुकाम उठाकर सीधे झंडा बाजार, सुभाष मार्ग होते हुए जुलूस कर्बला पहुंचेगा। जहां दुरूद-फातेहा पढ़ी जाएगी। इसके बाद ताजियो का विसर्जन होगा।
सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम-
एसडीओपी श्रीमती बबिता बामनिया और टीआई दिनेश शर्मा ने बताया सुरक्षा के माकूल इंतजाम किए जा रहे हैं। पर्व के मद्देनजर शांति समिति की बैठक भी हो चुकी है। स्थानीय पुलिस बल के अलावा बाहर से आई फोर्स को भी तैनात कर चाक-चौबंद सुरक्षा प्रबंध किए गए हैं। हुसैनी चौक के अलावा व्यस्तम क्षेत्रों सहित जुलूस रुट में भी पुलिस बल तैनात रहेगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here