गणतंत्र दिवस पर कहीं भी तिरंगे का अपमान हुआ तो विभाग प्रमुख पर होगी एफआईआर दर्ज : एसडीएम हर्षल पंचोली

0
376

सलमान शैख़, पेटलावद
गणतंत्र दिवस हमारा राष्ट्रीय पर्व है ,इसे मात्र औपचारिकता नहीं बल्कि दिल से मनाना चाहिए। समारोह के लिए सभी संबंधित विभाग समय रहते अपनी तैयारियां पूरी करें और अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन समर्पण भावना से करें। यह बातें एसडीएम आईएएस हर्षल पंचोली ने कही। आप आगमी 26 जनवरी को मनाये जाने वाले गणतंत्र दिवस के पूर्व तैयारियों को लेकर जपं सभाकक्ष में आयोजित गणमान्य नागरिकों, जनप्रतिनिधियों, समस्त शासकीय व अशासकीय शैक्षणिक संस्थाओ के प्रतिनिधियो व पत्रकरो ओर विभागों के साथ बैठक में कही।
गणतंत्र दिवस समारोह हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी बडे ही हर्षोल्लास, उत्साह, उमंग के साथ नई उत्कृष्ट विद्यालय के मैदान में धूमधाम से मनाया जाएगा। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे अपने अपने विभागों से संबंधित कार्यो को निश्चित समय पर पूरा करे, ताकि गणतंत्र दिवस समारोह के दौरान किसी प्रकार बाधा पैदा नहीं हो।
सभी अधिकारी समारोह की गरिमा के अनुरूप अपने-अपने विभाग से सम्बंधित सभी आवश्यक प्रबंध समय रहते पूरा करें। समारोह में भाग लेने वाले बच्चों को किसी प्रकार की कोई दिक्कत ना आने दे, उनके लिए पर्याप्त मात्रा में पेयजल, शौचालय तथा आने-जाने की व्यवस्था का उचित प्रबंध हो।
तिरंगा के अपमान हुआ तो होगी एफआईआर:
इस बार एसडीएम श्री पंचोली ने सख्त लहजे में सभी विभाग प्रमुखों को चेतावनी देते हुए निर्देश दिए कि अगर किसी भी विभाग में तिरंगे झंडे के अपमान या उल्टा फहराने आदि की खबर मिली तो विभाग प्रमुख के खिलाफ सीधे एफआईआर दर्ज करवाई जाएगी। इस बार उन्हें बख्शा नही जाएगा।
देशभक्ति गीतों पर ही हो प्रस्तुतियां:
उन्होंने निर्देश दिये कि गणतन्त्र दिवस पर प्रस्तुत किए जाने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रम देश भक्ति से ओतप्रोत हो।
ऐसे मनेगा राष्ट्रीय पर्व:
गणतंत्र दिवस पर सुबह साढ़े 7 बजे शैक्षणिक संस्थाओं में ध्वजारोहण होगा। इसके बाद 8 बजे शहर के प्रमुख मार्ग से प्रभातफेरी निकाली जाएगी। तय कार्यक्रम के अनुसार मुख्य समारोह स्थल पर ध्वजारोहण होगा। इसके बाद 9 बजकर 15 मिनट से शैक्षणिक संस्थाओं के विद्यार्थी सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति देंगे। कार्यक्रम के अंत में पुरस्कार वितरण होगा। वहीं मुख्य समारोह को गरिमापूर्ण और शांतिपूर्ण तरीके से संचालन करने के लिए प्रशासनिक स्तर से पटवारी यश रामावत की नियुक्ति की गई।
इस बार केवल 12 प्रस्तुतियां होगी:
हर बार समय के अभाव के कारण समारोह में कमी रह जाती है, लेकिन इस बार एसडीएम ने केवल 12 प्रस्तुतियां देने के निर्देश दिए, इनके लिए अलग-अलग थीम रखी जायेगी जिसके सुझाव 15 जनवरी तक प्रशासन को सभी संस्था को देने होंगे। प्रशासन ने अपने स्तर पर टीकाकरण, मतदाता जागरूकता, स्वच्छता अभियान, प्रदूषण, बेटी बचाओ अभियान की थीम को लिया है, इसके अलावा भी थीम संस्था प्रमुख या गणमान्य नागरिक दे सकते है। थीमों के सुझाव के बाद सभी शैक्षणिक संस्थाओ की प्रस्तुतियां ली जाएगी उनमे अगर जो खरा उतरा उसे उन 12 प्रस्तुतियों में शामिल किया जाएगा। वही अंतिम रिहर्सल 22 जनवरी को होगी।
12 प्रस्तुतियों को लेकर हुई नोकझोक:
एसडीएम के इस निर्णय को लेकर बैठक में गणमान्य नागरिकों से थोड़ी नोकझोक भी हुई, हालाकि अंतिम निर्णय में एसडीएम ने 12 प्रस्तुतियां कराना ही तय किया। नागरिकों का कहना था कि जो परम्परा चली आ रही है उसका निर्वहन किया जाए। पहले यह होता था कि शहर में जितनी भी शैक्षणिक संस्थाए है, उनकी एक प्रस्तुति होती थी, लेकिन इस बार ऐसा नही हो पाएगा, जो प्रशासन और गठित समिति के सामने अच्छा प्रदर्शन करेगा उसे ही मौका दिया जाएगा।
सभी विभाग लगाए झांकिया:
उन्होंने कहा कि सरकार की विकासात्मक परियोजनाओं तथा जन कल्याणकारी योजनाओं को दर्शाने वाली विभिन्न विभागों की झांकियां सुंदर व आकर्षक के साथ-साथ संदेश देने वाली हो।
उन्होंने शिक्षा,कृषि ,स्वास्थ्य,बिजली व पशुपालन विभाग के अधिकारियों को कार्यक्रम में प्रदेश सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं एवं विकास गाथा को दर्शाने वाली सुन्दर व आकर्षक झांकियां बनाने के भी निर्देश दिए।
इस दौरान नपं अध्यक्ष मनोहर भटेवरा, आदर्श स्कूल के नारायण भारती, जपं सीईओ महेंद्र घनघोरिया, सीएमओ सुरेशचन्द्र त्रिवेदी, नप उपयंत्री राकेश बेनल, प्राचार्य पीटर रेबेलो, योगेंद्र प्रसाद, ओंकारसिंह मेड़ा, फूड इंस्पेक्टर आनंदसिंह चंगोड़, लायंस क्लब अध्यक्ष आलोक चौहान, मनोज जानी, मोहन पडियार, लोकु परिहार, वीरेंद्र भट्ट, मनोज पुरोहित, नीलेश सोनी के साथ शासकीय एवं अशासकिय स्कूल के प्राचार्यो सहित अधिकारीगण, जनप्रतिनिधिगण, पत्रकार मौजूद रहे।

)