बालिकाओं के लिए आत्मरक्षा प्रशिक्षण

womensd1झाबुआ। आत्मरक्षा प्रशिक्षण न केवल बालिकाओं के आत्मविश्वास में वृद्धि करता है, अपितु विपरीत परिस्थितियों में स्वयं की रक्षा करने में सक्षम भी बनाता है। इसी उद्देश्य से राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान में बालिकाओं को पढाई के साथ साथ आत्मरक्षा का प्रशिक्षण विकासखंड स्तर की बालिका छात्रावास एवं चयनीकृत कन्या उमावि नानपुर, उमावि लक्ष्मणी, कन्या उमावि खट्टाली, उमावि सोरवा, उ.मा.वि.बखतगढ, उ.मा.वि.छकतला, उ.मा.वि.सेजावाडा, कन्या हाई स्कूल बरझर, उ.मा.वि.कानाकाकड, कन्या बोरझाड, उ.मा.वि.आमखुट, उ.मा.वि.झिरण में प्रस्तावित है। जिला शिक्षा अधिकारी आरएस जमरा ने बताया कि महिला अभ्यार्थी सेल्फ डिफेंस सर्टिफिकेट कोर्स, ब्लैक बेल्ट योग्यता धारी हो संबंधित शाला में या जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय से सम्पर्क कर सकते है। यदि किसी कारण से महिला अभ्यार्थी उपलब्ध नहीं होने पर प्रशिक्षित पुरूष से भी प्रशिक्षण करवाया जा सकता है।