विश्व विकलांग दिवस पर हुआ निःशक्त प्रतिभाओं सम्मान

0

- Advertisement -

3झाबुआ।विश्व विकलांग दिवस 3 दिसम्बर के अवसर पर जिला स्तर पर कलेक्टर अरूणा गुप्ता के मार्गदर्शन में जिला स्तर पर विश्व विकलांग दिवस 3 दिसम्बर के अवसर पर इस वर्ष तीन दिवसीय आयोजन किया गया। आयोजन के द्वितीय दिवस पर आज को प्रातः 11.30 बजे से निःशक्तजनों की सामथ्र्य प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया जिसमें निःशक्तता की समस्त श्रेणीयों में आयुवर्ग वार चित्रकला एवं सांस्कृतिक प्रतियागिताओं का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि थे अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत निशीबाला सिंह, यशवंत भंडारी प्राचार्य आयशा कुरैशी, अर्चना राठोर, जयन्त बैरागी जिला पंचायत के परियोजना अधिकारी जीपी ओझा मानव अधिकार आयोग के प्रदीप रूणवाल व मनोज जैन सर्वप्रथम उपस्थित अतिथियों ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधीजी के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलन कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। सांस्कृतिक कार्यक्रमों में जिसमें गायन नृत्य एवं अभिनय की विधाओं द्वारा निःशक्तजनों की मुख्यतः जिला विकलांग पुनर्वास केन्द्र में संचालित अनुभूति सीडब्ल्यू एसएन छात्रावास के बालकों-बालिकाओं ने आयुवर्गग में निःशक्ततावार अपनी प्रस्तुतियों से उपस्थित जनमानस का मन मोह लिया। इस अवसर निशीबाला सिंह ने कहा कि निःषक्तजनों की सेवा करना हमारा परम कर्तवय है और इस सेवा में हमारा सहयोग करने वाले व्यक्तियों एंव संस्थाआंे को धन्यवाद देते हुए कहा कि यहां उपस्थित निःशक्तजनों के चेहरे पर खुशी में आपकी निस्वार्थ सेवा के भाव स्पष्ट झलकते है और यही सबसे बड़ संतोष है। मानव अधिकार आयोग के सदस्य प्रदीप रूणवाल ने कहा कि यहां उपस्थित हर ब्यक्ति किसी न किसी रूप में अलग प्रकार की शक्तियों से परिपूर्ण है और यही उसकी पूर्णता है। सामथ्र्य एवं सांस्कृतिक प्रतियोगिताओं में जिला विकलांग पुनर्वास केन्द्र में संचालित अनुभूति सी डब्ल्यू एसन छात्रावास के बालक-बालिका, श्रुति मूक बधिर संस्था अंतरवेलिया, आज़ाद विकलांग कल्याण समिति मेघनगर, समन्वय सामाजिक एवं शैक्षणिक संस्था झाबुआ, पेरेन्ट्स सोसाटी फाॅर वेल्फेयर आॅफ पर्सन्स विथ डिसएबिलिटीज़ शासकीय विद्यालयों के छात्र-छात्राओं ने भाग लिया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.