प्रभु यीशू का जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया

झाबुआ लाइव के लिए थान्दला से रितेश गुप्ता की रिपोर्ट।

 

 मिस्सा पूजा में भाग लेते पुरोहित फोटो
मिस्सा पूजा में भाग लेते पुरोहित फोटो
उपस्थित समाजजन
उपस्थित समाजजन

कैथोलिक चर्च थांदला में प्रभु यीशू का जन्मोत्सव का पर्व क्रिसमस धूमधाम से मनाया गया। कड़ाके की ठंड में हजारों समाजजनों ने प्रभु यीशु के जन्मोत्सव का जश्न मनाते हुए ईश्वर धरती पर अवतरित हुए, ईश्वर इंसान बन गया, गानो के साथ बालक यीशू को पालकी में रखकर मोमबत्ती जलाकर भक्तिभाव के साथ नृत्य करते हुए जुलूस निकाला गया। जुलूस के पश्चात मिशन प्रांगण में मिस्सा पूजा में कैथोलिक चर्च थांदला के संचालक फादर कासमीर डामोर, सहायक फादर बसंत एक्का, फादर विरेन्द्र भूरिया एवं फादर मैथ्यू मरिया सुसाई द्वारा भाग लिया गया। मुख्य याजक व प्रवचक फादर कासमीर डामोर ने हजारों में उपस्थित समाजजनों को संबोधित करते हुए कहा कि कोई अनोखी घटना अगर हमारे जीवन में घटित होती है तो हम उसकी चर्चा बार-बार करते है, उससे कहीं बड़ी घटना आज से दो हजार-पंद्रह सौ वर्ष पूर्व घटित हुई, जब ईश्वर स्वयं इस धरती पर मनुष्य बनकर अवतरित हुआ और उससे कहीं अधिक सार्थक यह बात है कि उन्होने एक गोशाला में जन्म लिया, जहां सबसे पहले जो भेड़-बकरी चराने वाले चरावाहो को जो गरीब थे, उनको दर्शन मिला। वही प्रभु यीशू प्रेम, दया, शांति लेकर इस दुनिया में आए थे, हमारे संत पापा (पोप) द्वारा यह दया का वर्ष घोषित किया है। आज जरूरत उस दया, प्रेम एवं शांति का न केवल संदेश दे किंतु हम उसे जीवन में क्रियान्वयन रूप में निरूपित करें। नेता, जनप्रतिनिधि एवं प्रशासनिक अधिकारियों ने दी बधाई थांदला चर्च प्रांगण में पहुंचकर रात्रि में मिस्सा पूजा के दौरान सांसद कांतिलाल भूरिया, पूर्व विधायक वीरसिंह भूरिया, जनपद अध्यक्ष गेंदाल डामोर, चैनसिंह डामोर, भूरका सरंपच, कांग्रेस के मीडिया प्रभारी हर्ष भट्ट ने उपस्थित होकर समाजजनों को क्र्रिसमस की शुभकामनाएं दी। जबकि 24 दिसंबर को एसडीएम आरएस बालौदिया, एसडीओपी एनएस रावत, तहसीलदार एएस राही, थाना प्रभारी एसएस बघेल ने चर्च पहुंचकर चर्च संचालक फादर कासमीर डामोर व सामजजनों को बधाई दी। राजू कटारा व सुमन मेड़ा केदल ने मिस्सा के दौरान सुमधुर गीतो की प्रस्तुति दी। पवित्र बाईबिल का वाचन हेमराज मेड़ा, वरूणा बारिया ने किया। समारोह में युवाओं, माता मरिया समिति, पल्ली सलाहकार समिति व समाज के वरिष्ठजनों एवं पुलिस प्रशासन का पूर्ण सहयोग रहा। फादर कासमीर डामोर ने सभी को सहयोग के लिये धन्यवाद देते हुए आभार माना। उक्त जानकारी पीटर बबेरिया ने दी।