पिटोल में हुई लूट का पुलिस ने किया पर्दाफाश , नाबालिग सहित 2 आरोपी पुलिस गिरफ्त में

0
493

नवनीत त्रिवेदी @ झाबुआ

28 जनवरी  को दोपहर 1 बजे करीब फरियादी जितेन्द्र कलेक्शन करने के लिये मसुरिया, बावड़ी, कोयादरिया व भाजींडुंगरा में कलेक्शन करने गया था। दोपहर करीब 1 बजे भाजींडुंगरा से लास्ट कलेक्शन कर जब थादंला वापस आ रहा था तो रास्ते में भाजींडुंगरा नाले के उपर मोड़ पर अज्ञात व्यक्ति काले रंग की पल्सर के साथ खड़े हुए थे। फरियादी जितेन्द्र को आता देख उन्होने फरियादी जितेन्द्र की मोटर सायकल को रोककर उसे डरा धमकाकर उससे बेग छिन लिया व बावड़ी तरफ भाग गये। उस बैग में रखे कलेक्शन की गई रकम 1 लाख 25 हजार 331 रू., एक सेमसंग कंपनी का टेबलेट, एक बायोमेट्रीक स्केनर व फरियादी के मोटर सायकल की चाबी एवं मोबाईल लेकर भाग गये। जिस पर थाना कोतवाली में अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।
पिटोल क्षेत्र में हुई लूट की वारदात सनसनीखेज घटना होकर पुलिस के लिये एक बड़ी चुनौती बन गई। उक्त वारदात को देखते हुए पुलिस अधीक्षक झाबुआ श्री आशुतोष गुप्ता द्वारा घटना की गंभीरता को देखते हुए चौकी प्रभारी पिटोल को घटना का जल्द से जल्द पुलिस टीमें बनाकर खुलासा करने की जिम्मेदारी दी गई।
घटना का खुलासा :-
लूट की वारदात वाला घटनास्थल सूनसान जंगल वाला क्षेत्र था जहां कोई भी सीसीटीव्ही फुटेज नहीं था। जिसको ट्रेस करना पुलिस के लिये बहुत कठीन था। इस हेतु पुलिस टीम द्वारा अपने विश्वसनीय मुखबीरों को इस हेतु लगाया गया। विश्वसनीय मूखबीर घटनास्थल के आसपास के क्षेत्र में पिछले तीन दिनों से जानकारी जुटाने हेतु लगे हुए थे। सूचनाए संकलित की जा रहीं थी कि कौन ऐसे अज्ञात बदमाश है जो कि काले रंग की पल्सर मोटर सायकल से गुमते-फिरते हुए देखे गये है। इस हेतु आसूचना संकलन की टीम को भी लगाया गया। सूचना मिली कि एक बाल अपचारी के पास एक काले रंग की पल्सर मोटर सायकल है जो कि समुड़ा पिता वीरसिंह डामोर निवासी कोयादरिया के साथ घटना स्थल के पास देखा गया था। उक्त सूचना प्राप्त होते ही समुड़ा व बाल अपचारी के बारे में जानकारी जुटाई गई। जानकारी पुख्ता होने पर दोनों को पुलिस गिरफ्त में लिया गया।
थाना लाकर पुछताछ करने पर उनके द्वारा पहले घुमा-फिराकर बात करने लगे। फिर सख्ती से पुछताछ करने पर उनके द्वारा सारा राज उगल दिया। उन्होने बताया कि आदतन अपराधी अमरसिंह पिता नट्टू वसुनिया निवासी छालकिया एवं सिनु उर्फ चेनसिंह पिता जामा उर्फ जामसिंह वसुनिया निवासी छालकिया के साथ मिलकर उक्त लूट की वारदात को अंजाम दिया।
आरोपी अमरसिंह पिता नट्टू वसुनिया उम्र 36 वर्ष निवासी छालकिया, आरोपी सिनु उर्फ चेनसिंह पिता जामा उर्फ जामसिंह वसुनिया निवासी जो की आदतन अपराधी है| जानकारी प्राप्त हुई है कि उक्त दोनों अपराधियों पर गुजरात एवं राजस्थान में भी कई अपराध पंजीबद्ध है जिनके बारे में जानकारी एकत्रित की जा रहीं है।

जब्त की गई सामग्री :-
घटना में प्रयुक्त पल्सर मोटर सायकल. 40 हजार नकदी, एक काले रंग का बैग, फरियादी की मोटर सायकल की चाबी.  एक पर्स
आरोपियों के नाम :-
समुड़ा पिता वीरसिंह डामोर उम्र 38 वर्ष निवासी कोयादरिया (गिरफ्तार), अमरसिंह पिता नट्टू वसुनिया उम्र 36 वर्ष निवासी छालकिया (फरार), . सिनु उर्फ चेनसिंह पिता जामा उर्फ जामसिंह वसुनिया उम्र 35 वर्ष निवासी छालकिया (फरार),एक बाल अपचारी (गिरफ्तार)
सराहनीय कार्य में योगदान :-
संपुर्ण घटनाओं का खुलासा करने में चौकी प्रभारी पिटोल उनि रमेश कोली, सउनि सुरेश सेन, प्रआर. रईस खान, प्रआर. लोकेन्द्र नायक, प्रआर. भारत, आर. राकेश, आर. अंतिम एवं आर.  मंगलेश पाटीदार, आर.  महेश प्रजापति, आर. दीपक पटेल का सराहनीय योगदान रहा। उक्त सराहनीय कार्य पर पुलिस टीम को पुलिस अधीक्षक झाबुआ द्वारा पुरूस्कृत करने की घोषणा की।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here