जश्ने ईद मीलादुन्नबी हर्षोल्लास से मनाया, नगर में गूंजा या रसूलुल्लाह

रितेश गुप्ता @ थांदला 

गुरुवार को नगर में जश्ने ईद मिलादुन्नबी बड़ी धूमधाम से मनाया गया। सुबह से ही मुस्लिम धर्मावलंबियों में ईद मीलादुन्नबी को लेकर उत्साह देखा गया। सुबह नौजवान, बच्चे-बूढ़े सभी पीर साहब गली पहुंचे, जहां निजामी कमेटी द्वारा मौलाना इस्माइल कादरी साहब का स्वागत किया गया। दोनों मस्जिद के मौलाना दोनों मस्जिद के सदर का इस्तकबाल किया गया एवं निजामी कमेटी द्वारा लंगर का इंतजाम किया गया। जुलूस पीर साहब गली से शुरुआत हुई इससे बड़ी संख्या में बच्चे बूढ़े नौजवान एक ही परिधान में शरीक हुए जुलूस जमा मस्जिद गांधी चौक सुंदर लाज पीपली चौराहा पहुंचा। वहां पर गौर सेवा के अध्यक्ष एवं पार्षद राजू भाई धानक तुलसीराम के नेतत्व में जुलूस का पुष्पवर्षा कर स्वागत किया गया। इसके पश्चात आजाद चौक पर विधायक वीरसिंह भूरिया, आनंद चौहान, वीरेंद्र बारिया द्वारा शॉल श्री हार पहना कर जोरदार स्वागत किया जुलूस में घोड़े पर निजामी कमेटी के अध्यक्ष कादर शेख एवं हुसैनी कमेटी के अध्यक्ष भूरु पहलवान को बिठाया गया। गांधी चौक में भी जुलूस का जोरदार स्वागत हुआ। यतीश दाइजी द्वारा जुलूस में शामिल सभी को ठंडा पानी पिलाया एवं स्वागत किया।

पूरे जुलूस में हिंदू मुस्लिम एकता देखने को मिली जुलूस वापस नूरी गार्डन में पहुंचा एवं धर्म सभा में परिवर्तित हो गया। मौलाना इस्माइल बरकाती साहब ने फातेहा पढ़ी एवं देश में अमन, चैन ,सुख, शांति की दुआएं की। इस मौका बरकाती साहब ने कहा कि हमारे आका जब एस मुहम्मद रसुलुल्लाह सल्लाहो अयैहिवस्ल्लम आज ही के दिन पैदा हुए थे एवं आज ही के दिन इस दुनिया से पर्दा किया। क्योंकि मेरे चाहने वालों को ना ज्यादा खुशी हो ना ज्यादा गम। क्योंकि मोहम्मद सल्लल्लाहो ताला वसल्लम ने 1400 साल पहले महिला को सम्मान देने की बात कही थी जिस दौर में अगर पति मर जाता था तो उसकी पत्नी को भी साथ में मरना पड़ता था। महिलाओं पर जबरदस्त अत्याचार होता था उसे दौर में महिला को सम्मान के लिए लड़ाई लड़ी थी मुहम्मद सल्लल्लाहो ताला वसल्लम पूरी दुनिया के रहनुमा बनकर आए थे। आज पूरी दुनिया में मुहम्मद सल्लल्लाहो ताला वसल्लम को मानने वाले हैं। जुलूस में विशेष रूप से उपस्थित सदर हशमतुल्लाह खां, सेक्रेटरी रफीक शेख, हज वेलफेयर सोसाइटी के जिलाध्यक्ष हाजी अब्दुल समद खान, हाजी शाहिद निजामी, हाजी अब्दुल हक, हाजी करीम शेख पत्रकार, कादर शेख पत्रकार, इमरान खान, शकील रजा खान, पत्रकार जावेद खान, जमील खान, शाहिद खान, सईदुल्लाह खान, बब्बू भाई पूर्व पार्षद कमालुद्दीन शेख कांग्रेस नेता मोइनुद्दीन एवं निजामी कमेटी के सारे लोग उपस्थित थे। पुलिस प्रशासन ने जुलूस के लेकर चाक चौबंद किए थे व पुलिस प्रशासन जुलूस में सक्रिय रहा। पुलिस के इंतजाम व सहयोग की मुस्लिम धर्मावलंबियों ने जमकर प्रशासन कर धन्यवाद दिया।