झोलाछाप डाक्टरो पर कार्रवाई से मचा हडकंप

झाबुआ लाइव के लिए रितेश गुप्ता की रिपोर्ट

11नगर में कई वर्षो से क्षैत्र की जनता के साथ स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। दर्जनों अवैध चिकित्सालय डाक्टर चला रहे है। गोरतलब है कि पूर्व बीएमओ डाक्टर मार्कुस डामोर के संरक्षण में अवैध चिकित्सालय की बाढ़ सी आ गई थी जिसे देखने वाला कोई नही था। थंादला के आसपास हजारो अवैध चिकित्सक डिग्री या बिना डिग्री से इलाज कर करे है। मात्र अपनी सेटिंग के आधार पर करते चले आ रहे है। बुधवार को थंादला अनुविभागीय अधिकारी आरएस बालोदिया एव ंबीएमओ कमलेश परस्ते अपनी टीम के साथ एमजी रोड पर चल रहे अवैध चिकित्सालय पर कार्रवाई करते हुए दवाइयो का जखीरा जब्त कर पंचनामा बनाया गया एवं डिग्री और लाइसेंस के जांच हेतु लिए गए एवं पांच को सील किया गया। इन पर हुई कार्रवाई डाक्टर विमल सरकार, टीना विश्वास काजल, मनोज गोर, हरीश हाड़ा, सागर मित्रा, बुद्धदेव भोसल पर कार्रवाई की गई।

कई चिकित्सक दवाखाने बंद कर भागे
जैसे ही पता चला की एसडीएम द्वारा छापामार कार्यवाही की जा रही है, जहां पर मरीजो को इलाज कर रहे फर्जी डाक्टर मरीजो को ईलाज किए बिना ही भगा दिया और अपना व्यवसाय बंद करके भाग गए।

मेडीकल की आड़ में कर रहे इलाज
नगर में कई ऐसे चिकित्सक के चिकित्सालय हे जो मेडीकल की आड़ में अवैध तरीके से इलाज कर रहे है। जिन्हे ईलाज का प्रावधान नहीं है वे भी ईलाज करते देखे जा रहे है ।

होगी कार्यवाही या मात्र खानापूर्ती
जन चर्चा का विषय बना हुआ है कि हमेशा की तरह फर्जी चिकित्सको की कार्यवाही के नाम पर खानापूर्ति कर ली जाती एवं कुछ दिनो बाद पुनः यह माफिया अपने दवाखानो मे अवैध रूप से इलाज करना प्रारंभ कर देते है। इस बारे में हमारे प्रतिनिधी द्वारा एसडीएम बालोदिया एव ंबीएमओ डाॅ. परस्ते चर्चा की तो बताया की हमारे द्वारा जो आज कार्रवाई की जा रही है। वह ठोस कार्रवाई की जाएगी और कोर्ट से फैसला लिया जाएगा। इनके दस्तावेजो की जांच की जा रही है जिससे यह पता लगेगा की इन्हे इलाज के लिए प्रावधान है या नहीं ।

आरएस. बालोदिया अनुविभागीय अधिकारी थंादला – इन पर सतत निगरानी रखी जाएगी और पकड़े जाने पर ठोस कार्रवाई की जाएगी ।