एसपी ने अपराधों में कमी के लिए जिलेवासियों से की अपील

झाबुआ लाइव डेस्क। सकल व्यापारी संघ झाबुआ का प्रतिनिधि मंडल एसपी संजय तिवारी से मिला। इस दौरान उन्हें शहर में बढ़ रहीं चोरियों की वारदातों से अवगत करवाया गया। प्रतिनिधि मंडल से चर्चा में एसपी द्वारा जिलेवासियों में अपराधों में कमी लाने के लिए आवश्यक सहयोग की अपील की गई एवं विभिन्न सावधारियां बरतने का जिलेवासियों से आग्रह किया गया। एसपी तिवारी ने बताया कि पुलिस और जनता का एक समान लक्ष्य है, एक सुरक्षित समाज, किन्तु यह कार्य पुलिस केवल जनता के सहयोग से ही कर सकती है, जो समय-समय पर पुलिस को सुरक्षा की प्राथमिकताएं बताने के साथ-साथ उसका हल भी बताती है। उन्होंने बताया कि जिले की पुलिस अपने कर्तव्यों के प्रति कटिबद्ध होते हुए जिले को सबसे अच्छा और सुरक्षित स्थान बनाने के लिए लगातार प्रयासरत है।
ये दिए सुझाव
एसपी द्वारा जो सुझाव दिए गए है उसमें कुछ महत्वपूर्ण सुझावों में अपने मौहल्लों एवं कॉलोनी में घूमते किसी अजनबी या संदिग्ध की सूचना तत्काल पुलिस को देने, घर पर नौकर रखने से पहले उसके संबंध में पूरी जांच-पड़ताल करने, रात्रि में सोने से पहले घर के दरवाजे-खिड़की मजबूती से बंद करने, घर के चारों ओर प्रकाष की समुचित व्यवस्था करने, घर से बाहर जाने पर पड़ौसी को इसकी जानकारी देकर जाने, घरों में आवष्यक रूप से कुत्ता पालने, निजी तौर पर चौकीदार रखने, घरों के मुख्य प्रवेश द्वार के बाहर चैनल गेट लगाकर और डोर लॉक लगाने, किसी छीपे हुए स्थान पर सीसीटीवी कैमरा लगाने, घरों में ज्यादा नकद पैसा एवं जेवरात नहीं रखने, घर को लॉक करने के दौरान घर के बाहरी हिस्से के एक या दो कमरे की लाइट जलाकर रखने, मोहल्ले या कॉलोनी में सुरक्षा समिति के गठन में पुलिस को सहयोग एवं प्रोत्साहन देने, वाहनों की डिक्की या कार में पैसों को असुरक्षित न रखे, लॉक लगाकर रखने, वाहन के साथ समस्त मूल दस्तावेज रखने, चारपहिया वाहन के मालिक द्वारा अपने वाहन के लिए चालक या परिचालक को रखने से पूर्व उसका पूरी तरह वैरीफिकेशन करने आदि सावधानियां बरतने की अपील पुलिस अधीक्षक द्वारा जिलेवासियों से की गई है। इसके साथ ही अपराध या अपराधियों की सूचना तत्काल जिले के संबंधित थानों एवं चौकियों पर दूरभाश एवं प्रभारी के मोबाइल पर देने की बात कहीं गई। प्रतिनिधिमंडल की एसपी तिवारी से करीब एक घंटे चर्चा हुई। व्यापारियों ने भी अपराध संबंधी घटनाओं पर अपने विचार रखे एवं किस तरह अपराधों में कमी लाई जा सकती है, इसके संबध में सुझाव दिए। इस दौरान एसडीओपी झाबुआ एसआर पुरोहित एवं थाना प्रभारी अनिलसिंह ठाकुर भी उपस्थित थे।