20 वर्षों से अपूर्ण है आंगनवाड़ी भवन, बच्चे बरामदे में बैठने को मजबूर, विधायक भूरिया ने जल्द ही भवन बनाने का दिया आश्वासन

0
211

विजय मालवी, बड़ी खट्टाली
यहां से 5 किलोमीटर की दूरी पर स्थित ग्राम चमारबेगड़ा के खाडा फलिया में आंगनवाड़ी भवन जर्जर भवन के चलते आंगनवाड़ी के बच्चे बाहर बरामदे में बैठते हैं। लेकिन दुर्भाग्य है कि इस ओर ना तो विभाग का ध्यान है और न ही ग्राम पंचायत का। लगभग 20 वर्ष पूर्व इस फलिये में आंगनवाड़ी भवन का निर्माण हुआ था जो अपूर्ण पड़ा हुआ है। आंगनवाड़ी भवन में ना तो प्लास्टर है नहीं छत है बच्चे जर्जर भवन के अभाव में बाहर बरामदे में बैठते हैं। इस बारे में ग्रामीणों ने बताया कि उक्त भवन में कई बार सांप अन्य जानवर भी निकल चुके हैं। भवन बनाने हेतु कई बार शासन का ध्यान आकर्षित किया इस और किसी का ध्यान नहीं है। क्षेत्रीय विधायक कलावती भूरिया को भी ग्रामीणों व पंचायत प्रतिनिधियों ने ग्राम चमार बेगड़ा में आंगनवाड़ी भवन बनवाने की पहल की। विधायक भूरिया ने शीघ्र ही भवन बनवाने का आश्वासन दिया व विधायक कलावती भूरिया ने कहा कि बड़ा दुर्भाग्य है कि 20 वर्षों से इस गांव में आंगनवाड़ी भवन का निर्माण नहीं हुआ मैं शीघ्र ही महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी को भवन विहीन आंगनवाड़ी के प्रस्ताव शीघ्र ही प्रेषित करूंगी। इस संबंध में जिला कलेक्टर को भी पत्र प्रेषित कर ग्राम चमार बेगड़ा में नवीन आंगनवाड़ी भवन स्वीकृत करने की पहल की ग्रामीणों ने बताया कि बताया कि ग्राम चमार बेगड़ा में अन्य आंगनवाडिय़ों में भी भवन नहीं है। परिणाम स्वरूप बच्चे बाहर बैठने को मजबूर है इस संबंध में विभाग द्वारा कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है जबकि प्रदेश सरकार नन्हे नन्हे बच्चों को बैठने हेतु प्राथमिकता से भवन स्वीकृत कर रही है। ग्राम पंचायत चमार बेगड़ा के सरपंच रघुसिंह एवं सचिव चंद्र सिंह ने बताया कि खाड़ा में फ़लिया में आंगनवाड़ी भवन अति आवश्यक है। इस संबंध में ग्राम पंचायत द्वारा भी शीघ्र ही प्रस्ताव जनपद पंचायत जोबट को भेजा जा रहा है। सरपंच ने बताया कि उन्होंने क्षेत्रीय विधायक  कलावती भूरिया को भी प्रवास के दौरान आंगनवाड़ी भवन बनवाने का प्रस्ताव दिया है। स्थानीय पटवारी नितेश अलावा द्वारा भी शनिवार को ग्राम चमार बेगड़ा का भ्रमण कर पाया कि खाड़ा फलिया में आंगनवाड़ी भवन जर्जर अवस्था में होकर बच्चे बाहर बरामदे में बैठ रहे हैं आंगनवाड़ी में 70 बच्चे दर्ज है। ग्रामीणों द्वारा तत्काल भवन बनाने की मांग की जा रही है। नितेश अलावा ने बताया कि उन्होंने इस संबंध में अनुविभागीय अधिकारी अखिल राठौड़ जोबट को वस्तुस्थिति से अवगत करा दिया है।
)

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here