दादरी से उलट – बरझर ने दे दिया संदेश , हर जगह को दादरी ना समझे

अलीराजपुर लाइव के लिऐ ” विशेष संवाददाता फिरोज खान बबलू की EXCLUSIVE रिपोर्ट 

IMG-20151017-WA0110

उत्तरप्रदेश के ” दादरी” की घटना के बाद जहा राजनीति तेज है ओर हर राजनीतिक दल दादरी कांड को भुनाना चाहता है वही दादरी से 900 किमी दूर पश्चिम मध्यप्रदेश के गुजरात से सटे आदिवासी बहुल ” अलीराजपुर” जिले की आजादनगर तहसील के गांव ” बरझर” मे शुक्रवार जो कुछ भी घटा वह उन राजनेताओ के मुंह पर तमाचा है जो दादरी जैसे माहौल को पूरे देश का मानते है यूएन मे ले जाना चाहते है ।IMG-20151017-WA0108

यह हुआ  शुक्रवार को ” बरझर” में

————————————–

दरअसल ” बरझर” गांव के दो हजयात्री ” लियाकत खान एंव जरीना बी ” आज हजयात्रा कर अपने गांव बरझर लौटे तो उनके स्वागत के लिए पूरे गांव के सभी समाज के लोग फूलमाला लिऐ खडे थे गांव के हर चौराहे पर इस दंपत्ति का अभिनंदन किया गया । सबसे भावुक दृश्य उस समय नजर आया जब लियाकत खान सपत्नीक गांव की दलित बस्ती में पहुंचे तो हाथो में माला ओर आंखो में आंसू लिये दलित बस्ती के लोगों ने इस दंपत्ति का स्वागत किया । दरअसल खान दंपत्ति बरझर की ” दलित” बस्ती में रहते है ओर आटा चक्की के साथ साथ किराने की दुकान चलाते है लिहाजा बस्ती के हर परिवार का उनसे आत्मीय जुडाव है जब मक्का मे भगदड़ के चलते कई लोगों की मौत की खबर सुनी थी तभी से इस बस्ती के हिंदू ( दलित) परिवार चिंतित थे लेकिन सही सलामत अपने बीच लियाकत खान ओर उनकी पत्नी को फिर से पाकर बस्ती भावुक हो गयी थी ।इस भावुक दृश्य को देखकर वहां मौजूद कई लोगो कि आंखे भर आई ।