आदिवासी बाहुल्य जिले में राष्ट्रीय पर्व पर स्कूलों में नहीं फहराया ध्वज : पटेल

0
1105

आलीराजपुर। आदिवासी बाहुल्य जिले मे स्वतंत्रता दिवस के अमृत महोत्सव अंतर्गत 15 अगस्त पर ग्रामीण क्षैत्रो की स्कूलों मे ध्वजारोहण नही कर खुलेआम माखौल उडाया गया है। इस तरह से प्रधानमंत्री मोदीजी के तिरंगा अभियान एवं राष्ट्रीय पर्व स्वतंत्रता दिवस की धज्जियां उडाई जा रही है। 15 अगस्त को ग्रामिणजन सुबह से लेकर दोपहर तक स्कूल मे खडे रहकर शिक्षको के आने का रास्ता देखते रहे, परंतु शिक्षक झंडावंदन कार्यक्रम करने नहीं पहुंचे। कलेक्टर महोदय एवं सहायक आयुक्त को इस मामले को गंभीरता से संझान मे लेते हुए बीईओ, बीआरसी, स्कुल प्रार्चाय एवं शिक्षको पर कडी कार्रवाई कर उन्हे तत्काल निलंबित करना चाहिए। 

उक्त बाते पूर्व जिला कांग्रेस अध्यक्ष महेश पटेल ने जारी प्रेस विज्ञप्ति मे कही। दरअसल, ग्राम अरठी आम्बी फलिया ग्राम पंचायत गुडा तहसील कट्‌ठीवाड़ा जिला अलीराजपुर के ग्रामीणो ने मंगलवार को पूर्व कांग्रेस जिलाध्यक्ष महेश पटेल को इस मामले को लेकर एक ज्ञापन सौपा। इसके पूर्व सभी ग्रामीणजन मंगलवार को जनसुवाई मे पहुंचे और आवेदन दिया। पटेल ने बताया कि प्रदेश स्तर पर जिले मे शिक्षा की स्थिती बदहाल होकर धरातल पर पहुंच गई है। अधिकारियो द्धारा शिक्षा की बेहतरी को लेकर बडे-बडे दावे करते है, लेकिन जमीन पर इसकी हकिकत कुछ ओर मालुम पड़ती है। जिम्मेदार अफसर सिर्फ सडक मार्गो की स्कूलों व आंगनवाड़ियों का निरीक्षण कर संतुष्ट हो जाते हैं। जबकि सुदुर ग्रामीण क्षेत्रों की स्कूलों एवं आंगनवाडियो मे जाए तो बदहाल स्थिती का सही पता चलेगा।

पटेल ने बताया कि शिक्षा की बदहाल की स्थिती क्या होगी जब राष्ट्रीय पर्व स्वतंत्रता दिवस पर स्कुलो पर झंडावंदन नही किया गया हो। ग्राम अरठी आम्बी फलिया प्रा.वि. मे शिक्षको ने 15 अगस्त पर झंडावंदन करना उचित नही समझा। यहां तक की ग्रामीणजन सुबह से लेकर दोपहर तक स्कूल में खडे रहकर शिक्षको के आने का रास्ता देखते रहे, परंतु शिक्षक झंडावंदन करने नही पहुंचे। इस तरह से राष्ट्रीय पर्व स्वतंत्रता दिवस की धज्जियांं उडाई गई है। उन पर कडी कार्रवाई होना चाहिए। पटेल ने बताया कि जिले मे कई स्कूलें शिक्षक विहिन पडी हुई है, जबकि अधिकांश शिक्षको बिना काम के जिला मुख्यालय पर अटेच कर रखा है। ऐसे शिक्षको को खाली पडी स्कूलों में भेजना चाहिए। ग्राम अरठी के मुकामसिंह पिता वेस्ता, नितेश पिता जेराम, दुकालसिंह पिता मेथु, माधु पिता ढेडु, दिलु पिता भंगडा, सुकराम पिता डुंगरसिंह, संजय पिता चमसिंह, सुरेंद्र पिता जबरिया, मुकामसिंह पिता नाहलिया सहित अन्य ग्रामिणजनो ने पटेल को सोपे गए ज्ञापन मे बताया कि अरठी आम्बी फलिया प्रा.वि. वर्ष 2022 मे जब से स्कूल खुला है तब से कोई भी शिक्षक स्कूल में नही आए है। 15 अगस्त 2022 को स्कुल पर झंडावंदन का कार्यक्रम भी नही हुआ है। साथ ही आंगनवाडी कंेद्र एवं स्कूल मे बच्चो को पोषण आहार नहीं दिया गया है। इस दौरान ग्रामिणो ने पटेल को 15 अगस्त को स्कुल बंद के फोटो एवं विडियो भी दिखाए। पटेल ने प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा कि राष्ट्रीय पर्व स्वतंत्रता दिवस पर झंडावंदन कार्यक्रम नही करने वाले संबधितो पर कार्रवाई नही हुई ओर जिले मे शिक्षा की स्थिती नही सुधरी तो कांग्रेस पार्टी आंदोलन के लिए बाध्य होंगी। 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here