शासकीय भूमि पर लगे वर्षो पुराने पेड़ को काटने की कोशिश, जिलाधीश को सूचना देने पर पेड़ को मिला नया जीवन

0
363

लवनेश गिरी गोस्वामी,थांदलारोड़ 

थांदला-मेघनगर मुख्य मार्ग पर स्थित थांदलारोड़, उदयगढ़ मैं चोराहे पर रोड़ से लगे एक सीसम के पेड़ को अपने निजी स्वार्थ के चलते पास में मकान निर्माणकर्ता द्वारा पेड़ को काटने की कोसिस की गई। पेड़ की कुछ टहनियों को तो काट दिया गया पर जब इसकी सूचना वन विभाग डीएफओ को दी तो कहा गया यह रेवेन्यू का मामला है, जिसके बाद एसडीएम मेघनगर को सूचना देनी चाही पर उनके द्वारा फोन नही उठाया गया अंत मे जिलाधीश को सूचना दी जिसके बाद पेड़ को काटने से
रोक दिया गया। पूर्व में भी पास में ही लगे निम के वर्षों पुराने पेड़ को काटने की कोसिस की थी परंतु गांव वालो व ग्राम पंचायत नोगांवा सरपंच की दखल के बाद पेड़ काटने वाले भाग खड़े हुए थे। पेड़ काटने संबंधी जब ग्राम पंचायत नोगांवा से जानकारी ली तो बताया गया कि मकान मालिक का कहना है कि एसडीएम मेघनगर से अनुमति ली है।एक ओर तो शासन-प्रशासन पेड़ लगाने की बात कर रही है, बड़े बड़े नेता मंत्री आते है तो वृक्षारोपण का कार्यक्रम आयोजित होता है और दूसरी ओर अधिकारी ही पेड़ काटने की अनुमति दे रहे है जबकि उनके द्वारा मौका मुआयना ही नही किया जाता है।अभी तो पेड को जीवनदान मिल गया पर आगे यह पेड़ बचे या नही ये अधिकारियों पर निर्भर है।

)

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here