थादंला मे हुआ साध्वीश्री का मंगल प्रवेश

May

झाबुआ लाईव के लिये  थांदला से रितेश गुप्ता की रिपोर्ट

साध्वी पुण्याीलाजी का थांदला में मंगल प्रवेश।IMG-20150623-WA0401

थांदला/ आचार्य श्री उमेामुनिजी के सुशाय प्रवर्तक श्री जिनेन्द्रमुनिजी की आज्ञानुवर्तिनी प्रवचन प्रभाविका पुण्यपुंज साध्वी श्री पुण्यशीलाजी, अनुपमशीलाजी, सुव्रताजी, किरणबालाजी, शीतलप्रभाजी, शिल्पाजी, सारिकाजी, रेणुप्रभाजी, नेहप्रभाजी आदि ठाणा-13 का 23 जून मंगलवार को प्रातः 8 बजे थांदला रोड़ की तरफ से थांदला नगर में मंगल प्रवेा हुआ। साध्वी मंडल का बदनावर, पेटलावद, राजगढ़, रायपुरिया, कल्याणपुरा, झाबुआ, मेघनगर, अगराल आदि क्षैत्रो में धर्मप्रभावना करने के पचात यहां नगर आगमन हुआ। श्री वर्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ के अध्यक्ष राजीव चोरडि़या व श्रीसंघ के सचिव प्रदीप गादिया तथा श्री ललित जैन नवयुवक मंडल के अध्यक्ष हितेा शाहजी ने बताया कि साध्वी मंडल की अगवानी हेतु बड़ी संख्या में श्रावक-श्राविकाए ग्राम अगराल पहुंॅच गए थे। प्रवेश के दौरान श्रावक-श्राविकाएं श्रमण भगवान महावीर स्वामी, आचार्य श्री उमेशमुनिजी, प्रवर्तक श्री जिनेन्द्रमुनिजी, साध्वी श्री पुण्याीलाजी आदि की जय-जयकार करते हुए व गुरू गुणगान करते हुए चल रहे थे।  मंगल प्रवेा यात्रा शासकिय महाविधालय, दाहरा मैदान, नगर परिाद कार्यालय, इमली गणेा मंदिर, पुलिस थाना, मठवाला कुंआ, जवाहर मार्ग, आजाद चैक होती हुई पोषध भवन पहुंची। यहां समस्त श्रावक-श्राविकाओं ने साध्वी मंडल को सामुहिक वंदना की। कई श्रावक-श्राविकाओं ने साध्वी श्री पुण्याीलाजी के मुखारविंद से विविध त्याग, प्रत्याख्यान ग्रहण किए। अंत मे साध्वी श्री पुण्याीलाजी ने मांगलिक श्रवण करवाई। साध्वी मंडल के सानिध्य में यहां स्थानीय पोषध भवन पर  प्रतिदिन प्रातः प्रार्थना, प्रवचन, ज्ञानचर्चा, प्रतिक्रमण आदि विविध धार्मिक आयोजन होगे। साध्वी मंडल के प्रवेा पर ग्राम अगराल के अरविंद भाई धोका भी उपस्थित थे। मंगलवार को साध्वी मंडल के दर्शनार्थ साध्वी सारिकाजी के सांसारिक पिताजी पुखराजमल करनावट व सासांरिक माताजी मधु करनावट (कोद) आए। मंगलवार को आतिथ्य सत्कार का लाभ मुकेश सागरमल चाैधरी ने लिया।