आजाद कृष्ण परिवार की धर्मयात्रा 9 प्रान्तों के धार्मिक स्थलों का करेगी भ्रमण

0
87

रितेश गुप्ता, थांदला

आजाद कृष्ण परिवार मेघनगर द्वारा प्रतिवर्ष जनमाष्टमी पर्व पर निकाली जाने वाली 12वी कृष्ण धर्मयात्रा इस वर्ष 23 अगस्त को थांदला हनुमान अष्ट मंदिर से रवाना होगी। प्रदेश सहित 9 प्रान्तों का सफर कर इस धर्मयात्रा का समापन मेघनगर में होगा।

इन स्थानों का धर्मयात्रा करेगी भ्रमण
थांदला हनुमान अष्ट मंदिर से कृष्ण यात्रा 40 चारपहिया वाहनों के काफिले के साथ प्रारम्भ होगी व नगर के प्रमुख मार्गों से होकर मेघनगर, कल्याणपुरा, झाबुआ, राणापुर,जोबट से पश्चिम निमाड़ के रास्ते होती हुई महाराष्ट्र में प्रवेश करेगी व घुश्मेश्वर ज्योर्तिर्लिंग, भीमाशंकर ज्योर्तिर्लिंग, मल्लिकार्जुन ज्योर्तिर्लिंग, तिरुपति बालाजी, रामेश्वरम, धनुषकोठी, कन्याकुमारी सहित अनेक तीर्थस्थलों का भृमण कर मेघनगर लौटेगी। यात्रा में शामिल श्रध्दालु गोमुख से लाये गंगाजल द्वारा रामेश्वरम में जलाभिषेक करेंगे। इस धर्मयात्रा का नेतृत्व गोरजप्रान्त के संत समाज के प्रमुख श्री बालकदासजी महाराज करेंगे।

हजारो कृष्ण भक्त जुड़े
इस धर्मयात्रा के संस्थापक मेघनगर के कृष्णप्रेमी राजेश अहिर द्वारा 11 वर्ष पूर्व इस यात्रा का शुभारंभ किया था तब मात्र 5 सदस्य इससे जुड़े थे जो धीरे-धीरे भक्तों की संख्या आज हजारों की तादाद में जा पहुंची है। इन बीते 11 वर्ष दौरान धर्मयात्रा दल मध्यप्रदेश, गुजरात, राजस्थान, महाराष्ट्र, उत्तरप्रदेश, बिहार, नेपाल पशुपतिनाथ सहित अनेक धर्मस्थलों का भ्रमण कर चुकी है।

यात्रा का यह है उद्देश्य
भक्तो को कृष्ण परिवार से जोड़ते हुए एक परिवार भाव से सनातन संस्कृति व देश भक्ति के भाव जागृत कर वासुदेव कुटुम्बकम भाव के साथ सभी समाज के बहुमूल्य मोतियों को कृष्ण परिवार रूपी धागे में पिरोकर धरती मां के अलग-अलग रूपों में दर्शन करवाना व भारतीय संस्कृति को करीब से देखनाए समझना तथा राष्ट्र में समरसता का संदेश देना, भारत पुन: विश्वगुरु बने इस उद्देश्य के साथ श्री कृष्णशरणम ममरू बीज मंत्र की शक्ति का अहसास करते करते सब भूमि गोपाल की इस भाव के साथ यात्रा कर आमजन को संदेश देना । हनुमान अष्ट मंदिर ट्रस्ट प्रमुख अशोक अरोड़ा, नगर पंचायत अध्यक्ष बंटी डामर, पत्रकार कुन्दन अरोड़ा, मुकेश अहिरवार, पार्षद गोलू उपाध्याय, संघ प्रमुख भूषण भट्ट, रुसमल चरपोटा ने आमजन से अपील की है कि 23 अगस्त को स्थानीय हनुमान अष्ट मंदिर प्रांगण पर दोपहर 12 बजे पहुचकर यात्रा दल का भव्य स्वागत कर नगर भ्रमण में शामिल होकर यात्रा को बिदाई दे जो धर्मप्रेमी यात्रा में शामिल होने के इच्छुक हो वे यात्रा संयोजक राजेश भाई अहीर से संपर्क कर अपना नाम दर्ज करवाए।
)