झाबुआ Live: प्रभारी मंत्री का प्रथम आगमन ओर उससे जुडी राजनीतिक हलचल जानिए…

0
1060

नवनीत त्रिवेदी@ झाबुआ

18 माह के लंबे अंतराल के बाद आखिरकार बहुप्रतीक्षित जिले में प्रभारी मंत्री का आगमन हुआ, शुक्रवार शाम 5:00 बजे के आसपास प्रभारी मंत्री इंदर सिंह परमार झाबुआ पहुंचे और आज शाम 6:00 बजे के आसपास वापस शुजालपुर की ओर प्रस्थान कर गए.. मंत्री जी का दौरा कई मायनों में बेहद दिलचस्प रहा पढ़िए मंत्री जी के दौरे के कुछ रोचक किस्से,

1 – दिलीप सिंह भूरिया जी की प्रतिमा को करना पड़ा माला का इंतजार

जाहिर है जिले का प्रभार मिलने के बाद मंत्री जी पहली बार झाबुआ में थे इसलिए कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी अति उत्साहित थे, जिला भाजपा द्वारा पूर्व सांसद, अजजा आयोग के पूर्व अध्यक्ष एवं पूर्व भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष दिलीपसिंह भूरिया जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कार्यक्रम रखा गया था..और इसी उत्साह में मंत्री जी के हाथों दिलीप सिंह भूरिया जी की प्रतिमा पर जो माला पहनायी जानी थी उसी माला से कार्यकर्ताओं द्वारा मंत्री जी का स्वागत कर दिया गया, जब मंत्री जी प्रतिमा के पास पहुंचे तो उन्हें वापस वही माला भूरिया जी को पहनाने के लिए दी गई इस पर मंत्री जी ने साफ ना कहा, आनन-फानन में दूसरी माला बुलवायी गई, जब तक माला आई तब तक मंत्री जी को 15 मिनट इंतजार करना पड़ा, *यही कहा जा सकता है कि भाजपा सरकार में होने के बावजूद भाजपा के वरिष्ठ नेता भूरिया जी की प्रतिमा को भी माला का इंतजार करना पड़ा।

2 – राजगढ़ नाके पर शक्ति प्रदर्शन

लगभग 30 माह से राजनीतिक वनवास झेल रहे राजगढ़ नाका ग्रुप को मंत्री जी से पुराने संबंध होने से एक नई आशा की किरण जागी थी, इसलिए राजगढ़ नाके पर मंत्री जी के स्वागत के लिए बड़ी संख्या में कार्यकर्ता एकत्रित थे, पंडित दीनदयाल उपाध्याय की प्रतिमा पर मंत्री जी द्वारा माल्यार्पण भी किया गया, माल्यार्पण के बहाने राजगढ़ नाका द्वारा संख्या बल के माध्यम से अपना शक्ति प्रदर्शन मंत्री जी के सामने किया गया, *अब देखते हैं मंत्री जी का पलड़ा किस ओर ज्यादा झुकेगा !!*

3 गुप्ता जी की आवभगत

मंत्री जी के पूरे दौरे में मंत्री जी के साथ आए सहायक गुप्ता जी की मंत्री जी से ज्यादा पूछ परख रही, कोई गुप्ता जी को भोजन के लिए आमंत्रित कर रहा था तो कोई गुप्ता जी कौन सा पान खाते हैं यह मालूम करने की होड़ में था, किसी ने गुप्ता जी का व्यक्तिगत नंबर लेकर अपने आप को खास बताने का प्रयास किया तो पिछली जिला कार्यकारिणी के एक पदाधिकारी ने साफ तौर पर यह दावा किया कि *कोई भी काम हो बताना गुप्ता जी से अपने पुराने संबंध है, मैं काम करा दूंगा।*

4 मंत्री जी का शाम का भोजन, और बहुत सारी चर्चाएं

अगले साल होने वाले नगर पालिका झाबुआ के चुनाव की सुगबुगाहट पिछले कई माह से झाबुआ में देखी जा रही है, एक दर्जन से ज्यादा नेता – कार्यकर्ता आने वाले नगर पालिका चुनाव में अध्यक्ष की दावेदारी कर रहे हैं, कल शाम मंत्री जी का भोजन भाजपा नगर महामंत्री जुवानसिंह गुंडिया के यहां होना बाकी सारे दावेदारों के लिए चिंता का विषय बन गया है.. *देखते हैं मंत्री जी का यह भोज कितना सार्थक होगा..!!

5 मीडिया पर एहसान करने वाले जिला मीडिया प्रभारी

आज सुबह शहर के एक निजी गार्डन में मंत्री जी द्वारा जिला भाजपा की एक बैठक ली गई, भाषण हुए.. पूरे जिले से अपनी अलग-अलग समस्याओं को लेकर कई संगठन, कई लोग ज्ञापन भी देने आए उसके बाद जब मंत्री जी बाहर जा रहे थे तब भाजपा के जिला मीडिया प्रभारी मीडिया कर्मियों को ये कहते हुए देखे गए कि मंत्री जी का मीडिया से बात करने का कोई कार्यक्रम नहीं है, मैं बोल रहा हूं इसलिए मीडिया से बात कर रहे हैं, *जितनी तवज्जो मंत्री जी ने जिला मीडिया प्रभारी को दी उतनी ही अहमियत मीडिया द्वारा मंत्री जी को दी गई !!*

6 और किसी को अकेले में ना मिलने देने की कोशिश

प्रभारी मंत्री के झाबुआ जिले में प्रवेश के साथ ही जिला अध्यक्ष, नगर मंडल अध्यक्ष और तमाम पदाधिकारी मंत्री जी के आसपास ही रहे, वैसे यह हमेशा से ही होता है कि संगठन के प्रमुख प्रभारी मंत्री के साथ होते हैं लेकिन सर्किट हाउस के साथ ही बाजार में यह चर्चा आम है कि लगातार साथ मैं रहने का कारण यह भी था कि मंत्री जी से कोई अकेले में चर्चा ना कर ले *शायद इसलिए मंत्री जी को कल रात को सोने में 2:00 बज गए..

7 तो आखिर सीसीबी पर कौन ??

जिले की मलाईदार और महत्वपूर्ण संस्था जिला सहकारी केंद्रीय बैंक पर सरकार बदलने के बाद से ही प्रशासक नियुक्त है, आने वाले कुछ दिनों में अध्यक्ष के चुनाव होना है.. चुनाव तो महज एक कागजी प्रक्रिया है अध्यक्ष बनता वही है जिसे इंदौर और भोपाल का आशीर्वाद प्राप्त हो.. आधा दर्जन से ज्यादा नेता अध्यक्ष पद के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा रहे हैं देखते हैं इस बार किसकी लॉटरी लगती है…..

अगली बात….
अगले अंक में.. जय हिंद -जय भारत..

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here