अलीराजपुर जिले की राजनीतिक हलचल

0
3446

चंद्रभानसिंह भदौरिया @ चीफ एडिटर

नेताओ की आश्रम दौड
=================
अलीराजपुर जिले जोबट मे उपचुनाव होना है ओर टिकट की चर्चाओ के बीच कांग्रेस ओर बीजेपी के तमाम नेताओ की पडोस के एक जिले मे स्थित एक धार्मिक आश्रम मे दौड जारी है ऐसा नही है कि यहां दौड लगाने वालो अगाध आस्था हो .. सवाल टिकट का है बताते है कि कांग्रेस – बीजेपी के बडे नेताओ की मूवमेंट भी इस आश्रम में बनी रही है यही वजह है कि कुछ नेताओ को लगता है कि टिकट भले भोपाल से मिलेगा मगर रास्ता इस आश्रम से होकर ही गुजरता है.. अब देखना है नेताओ की बात सच निकलती है या छद्म आस्था का तिलिस्म टुटता है ।

अब नये सिरे से कवायद

बीजेपी सूत्रों से खबर आ रही है कि बीजेपी ने अपने उम्मीदवार का चयन करने के लिऐ एक नयी कवायद शुरू की है .. अब संभावित दावेदारों की प्रोफाइल बीजेपी संगठन ने खुद फोनकर मांगी है .. खबर है कि संघ – संगठन के साथ साथ खुफिया एजेंसी के फीडबैक को आधार बनाकर उम्मीदवार नये सिरे से तैयार किया जा सकता है ।

भारी भरकम तबादला सुची तैयार

इधर खबर आ रही है की जिले मे तबादलों के लिऐ एक बडी तबादला सूची तैयार की जा रही है .. सबसे अधिक तबादले ट्राइबल विभाग मे होना है करीब 400 से अधिक की सुची बनी है जिनके प्रशाशनिक ओर स्वैच्छिक तबादले होने है वही सभी विभागों को जोड दे तो करीब 500 से अधिक कर्मचारियों को इधर से उधर किया जाना है …वैसे भी 2018 के बाद करीब 3 साल बाद भाजपाईयों को मौका मिला है ।

नीतेश अलावा की बहाली फिलहाल नही

निलंबित पटवारी नीतेश अलावा की बहाली को लेकर जयस ने जोबट मे आक्रमक प्रदर्शन कर रूढीगत ग्रामसभा के जरिए प्रशासन को अलावा की बहाली का आदेश दिया था.. अल्टीमेटम 3 दिन का था.. लेकिन प्रशाशन ने इस अल्टीमेटम को हवा मे उडा दिया ओर दो सप्ताह बीतने के बाद भी अलावा को बहाल नही किया .. सूत्र बता रहे हैं कि सरकार से प्रशासन को हरी झंडी दी गयी है कि अलावा प्रकरण के जरिए जयस को संदेश दे दिया जाये कि सरकार अब काउंटर करेगी यानी झुकेगी नही .. अब देखना है कि अलावा प्रकरण को लेकर जयस संगठन का अगला स्टैंड क्या होता है.. कुछ लोग नीतेश अलावा को उपचुनाव मे बीजेपी के खिलाफ उतारने का सुझाव दे रहे है अब सवाल है कि क्या कांग्रेस चुनाव ना लडकर नीतेश अलावा को समर्थन देगी ? या अलावा के निलंबन को अवैध बताने वाली कांग्रेस अलावा को ही टिकट देगी ?

काश फैसबुक पर ही निंदा कर देते

अलीराजपुर जिले के आजादनगर ( भाभरा ) मे मंदसौर पुलिस के इनपुट से नकली शराब का जखीरा पकडा गया… जानकार बताते है कि सन 2016 से यह खेल चल रहा था.. ओर 11 ड्रम में जो केमीकल मिला है अगर उसकी शराब बनती तो करीब 700 पेटी शराब बनती…सोचिए मौत का आंकडा कहाँ जाकर ठहरता अगर इस शराब को लोग पी लेते.. खैर विडंबना यह है कि इस बडी कारवाई की निंदा करने के लिए अलीराजपुर जिले की किसी भी नेता ने ना तो प्रेस कॉन्फ्रेंस की ओर ना ही फैसबुक पर ऐसे घटिया ओर इंसानियत के खिलाफ होने वाले अपराधों के खिलाफ कुछ लिखा ना आलोचना की.. इसकी वजह जानते है ना आप ? .. बताने की जरूरत नही आप सब जानते है ..।

अंत मे…

दादा दयालू यानी रमेश मेंदोला को जबसे जोबट विधानसभा उपचुनाव का जिम्मा सौंपा गया है तब से दादा से लिंक जोडने वाले नेताओं की भरमार हो गयी है दादा दयालु भी सब जानते है सो दादा भी इन दिनो मजे ले रहे है ।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here