धोखाधड़ी: फसल गांव आकर ले गया व्यापारी; नही चुकाए लाखो रूपए और हो गया रफूचक्कर, किसान पहूचे थाने..

0
3406

SALMAN SHAIKH@ JHABUA Live

पेटलावद। आज शुक्रवार को पुलिस थाने पेटलावद में ग्राम रामगढ़ के करीब 10 से 15 किसान पहुंचे और पेटलावद के व्यापारी द्वारा की गई धोखाधड़ी की शिकायत करते हुए आवेदन दिया। किसानो ने आरोप लगाया कि पेटलावद के रहने वाले व्यापारी निर्मल मेहता और उसका पुत्र वैभव मेहता ने उनकी फसल खरीदी लेकिन भुगतान नही किया। लंबे इंतजार के बाद भी भुगतान नही मिला, तो उन्होनें दूरभाष पर संपर्क करना चाहा, लेकिन अब व्यापारी ने फोन बंंद कर लिया और पेटलावद से रफूचक्कर हो गया। जब वह व्यापारी के घर पहुंचे तो वह नदारद मिला। इसके बाद सभी पुलिस थाने पहुंचे और एक-एक आवेदन सभी किसानो ने व्यापारी के खिलाफ टीआई को दिए।
एक-एक पाई लेंगे-
किसानो ने यूनियन संघ के जिलाध्यक्ष महेंद्र हामड़ ने आरोप लगाया कि उक्त व्यापारी इससे पहले भी 3 से 4 बार किसानो के साथ धोखाधड़ी  कर चुका है, लेकिन हर बार वह बच निकला। इस बार वह गरीब भोलेभाले किसानो से लाखो का माल लेकर फरार हो गया है। उन्होने पुलिस से मामले में कड़ी से कड़ी कार्रवाई की मांग की है। इस मामले में जल्द ही किसान का प्रतिनिधिमंडल कलेक्टर से भी मिलेगा। उन्होनें कहा कि इस बार वे किसानो के रूपए दिलाने के लिए अगर धरना देना पड़ेगा तो वह भी देंगे, आंदोलन की राह भी अपनाएंगे और व्यापारी से किसानो की एक-एक पाई लेकर रहेंगे।
हर बार ठगाता है किसान-
यह पहली दफा नही है जब किसानो के साथ ठगी हुई है। इससे पहले भी ऐसे कितने ही व्यापारीयो ने किसानो के साथ धोखाधड़ी की, लेकिन हर बार किसान उसके खिलाफ आवाज नही उठा पाते थे, क्योकि उनके पास कोई पुख्ता सबूत नही होता था, लेकिन इस बार किसानो के पास वह रजिस्टर भी है जिसमें उसने एंट्री की थी और मोबाइल पर बातचीत की रिकार्डिंग भी है, जो वे पुलिस को पेश करेंगे। अब बड़ा सवाल यह है कि हर बार किसान इन व्यापारियो से ठगा जाता है, शासन-प्रशासन को इन व्यापारियो के खिलाफ सख्त से सख्त कदम उठाना होंगे, नही तो फिर कोई व्यापारी इन किसानो की खून-पसीने की कमाई हड़पकर रफूचक्कर हो जाएगा।
हम मामले की जांच कर रहे है-
इस संबंध में पुलिस का कहना है कि किसानो ने व्यापारी के खिलाफ आवेदन दिया है। हम इस मामले की तह तक जाएंगे, इसमें जांच कर रहे है अगर व्यापारी दोषी पाया गया तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।