तेजा दशमी पर किया रात्रि जागरण, तेजाजी महाराज की आरती के बाद महाप्रसाद का वितरण किया

झाबुआ लाइव से उमरकोट प्रतिनिधि डॉ. एस खान 

वीर तेजा तेजाजी महाराज दशमी तिथि के पावन पर्व पर रात्रि जागरण एवम तेजा जी महाराज के जीवन परिचय का नाटकीय रूपांतरण कर ग्रामीण कलाकारों ने संपूर्ण रात्रि में जागरण कर प्रस्तुत किया ।

महाराज तेजा जी की महा आरती कर प्रसाद वितरण की गई एवम अल सुबह आस पास के ग्रामीणों की भीड़ दर्शन के लिए उमड़ पड़ी। माना जाता है कि किसी व्यक्ति, पशु को जहरीले सांप या अन्य जानवर द्वारा काटा जाने पर महाराज तेजा जी बाबजी के नाम से दाहिने पाव पर डोरा (धागा )बांधने से जहर का असर कुछ क्षण में उतर जाता है। ग्रामीण क्षेत्र में साप के काटने का मामला बहुत ज्यादा होता है किसानों को जंगल खेतो में काम करना होता है।

आज के दिन की मान्यता बहुत ज्यादा है। ग्रामीण जन हजारों की मात्रा में दर्शन करने एवम मान मन्नत उतारने काफी संख्या में आते हैं। वीर तेजा जी महाराज के मंदिर सेवक शंकरलाल चौधरी ने वीर रामदेव पीर मंदिर सेवक भुरालाल राठौर को साफ बांध कर बधाई दी। उपस्थित ग्रामीण कलाकार एवम समस्त 18 से 20 गांव की जनता मौजूद थी । कार्यक्रम शाम 7:30 की आरती के बाद समापन होगा ।