इस बार पेटलावद में हुआ रिकॉर्डतोड़ मतदान, किस तरफ कर रहा ईशारा …?

0
703

सलमान शैख़@ पेटलावद

छोटी-मोटी घटनाओ को छोडक़र कुल मिलाकर अंतिम चरण का मतदान शातिपूण रहा। लोकसभा चुनाव में मतदान को लेकर सुबह पहले 4 घंटो में जबर्दस्त उत्साह रहा। सुबह मॉकपोल के बाद से ही कतारे लगना शुरू हो गई थी।

सहायक रिटर्निंग अधिकारी हर्षल पंचोली, आब्जर्वर एमआर रवि, एसडीओपी बबिता बामनिया, तहसीलदार मुकेश काशिव ने संवेदनशील मतदान केंद्र का निरीक्षण भी किया। सुबह 9 बजे तक 12.37 प्रतिशत मतदान हुआ था, जो 11 बजे तक बढक़र 32.87 प्रतिशत हो गया। यहीं नही इसके बाद फिर दोपहर 1 बजे तक यह आंकाड़ा 50.48 प्रतिशत को छू गया। ग्रामीण क्षैत्रो के मतदाताओ मे जबर्दस्त उत्साह नजर आया। 3 बजे तक मतदान का प्रतिशत 65 पर पहुंच गया। यही प्रतिशत बढ़कर शाम 5 बजे तक 70 प्रतिशत हो गया और फिर सभी जगह के मिलाकर 79.48 प्रतिशत मतदान का आंकड़ा सामने आया। जो कि एक रिकॉर्ड मतदान हुआ। इस बार वोटिंग प्रतिशत 2014 की मोदी लहर में हुए मतदान से भी ज्‍यादा है। सवाल है कि क्‍या अधिक मतदाताओं की भागीदारी सत्‍ता परिवर्तन का संकेत है या फिर कुछ नहीं बदलेगा।
*बंपर वोटिंग से किसको फायदा?*
हालांकि, जानकारों ने कहा है कि बंपर मतदान से यह नतीजा निकालना जल्‍दबाजी होगा कि इसका फायदा बीजेपी या कांग्रेस को होने वाला है। रेकॉर्ड वोटिंग से कोई अर्थ नहीं निकलता। यह अंदाजा लगाना गलता होगा कि अधिक वोटिंग का लाभ बीजेपी को मिलेगा। अगर ग्रामीण इलाकों में शहरी क्षेत्रों से अधिक वोटिंग होती है तो आमतौर पर इससे कांग्रेस को लाभ होगा। इस बार आदिवासी इलाकों में बहुत अधिक वोटिंग हुई है, यह बदलाव का संकेत हो सकता है। इसके बाद भी हम यह नहीं कह सकते कि अमुक राजनीतिक दल को लाभ होगा।’
*मतदान केंद्रो पर अव्यवस्थाओ को लेकर नाखुश दिखे लोग-*
इस बार पहले की तरह मतदान केंद्रो पर व्यवस्था नही दिखी। जगह-जगह कहीं बेठक व्यवस्था नही थी, तो कहीं टेंट छोटे पड़ गए। इसके अलावा मतदानकर्मीयो द्वारा काफी धीमे किए गए कार्य से भी लोग नाखुश दिखे।

*सुबह ही बूथो पर उमड़े मुसिलम मतदाता-*
रमजान के मुकद्दस महा मे भी मुस्लिम वोटरो का उत्साह देखने को मिला। मुस्लिम समुदाय के लोग रोजा रखे हुए थे, इसके बाद भी मतदान मे मुस्लिम समुदाय के लोगो ने बढ़चढक़र प्रतिभाग किया। सुबह सात बजे पोलिंग बूथ पर माकपोल होने के पूर्व ही बूथो पर मुस्लिम समुदाय का रेला उमड़ पड़ा था। धूप निकलने के पूर्व ही अधिक से अधिक मुस्लिम महिला-पुरूष वोट देने के लिए लाईन में लग चुके थे।

माकपोल मे 7 इवीएम हुई बंद, रूका मतदान-
पेटलावद में 7बूथो पर मॉकपोल के दौरान ईवीएम नही चलने से तत्काल ईवीएम और विविपेट मशीने बदली गई। सेक्टर अधिकारी भी तत्काल मौके पर पहुंचे। जिसमें 5 वीवीपेट मशीने तो 2 बीयू मशीने थी। इनके बंद होने से मतदान रूका रहा, इसके बाद मशीन बदली ओर फिर से मतदान शुरू हुआ।
*बाए की जगह दाए हाथ की अंगुली पर लगाया निशान-*
नगर के कई बुथो पर मतदान करने वाले मतदाताओ को पोलिंग पार्टी ने गलती से बाएं के स्थान पर दाए हाथ की पहली अंगुली पर निशान लगा दिए। कई मतदाताओ के साथ ऐसा हुआ।
*मतदान की खास झलकियां:-*
– स्वर्णकार समाज के सबसे वरिष्ठ वयोवृद्ध 91 वर्षीय मगनलाल सोनी ने परिवार संग किया मतदान।
– अपनी धर्मपत्नी के साथ एसडीएम श्री पंचोली ने किया मतदान।
– ग्रामीण क्षैत्रो में घुंघट में मतदान करने पहुंची ग्रामीण महिलाएं।
– ग्रामीण क्षैत्रो में घुंघट में मतदान करने पहुंची ग्रामीण महिलाएं।
– भाजपा कार्यकर्ताओ ने मतदान के बाद कुछ यूं किया सेलीब्रेशन।
– सिर्वी समाज की वयोवृद्ध 95 वर्षीय सुड़ीबाई पति हेमाजी परमार अपने पुत्र के साथ मतदान करने पहुंची।
– रोजा था फिर भी भरी धूप में मतदान करने पहुंची मुस्लिम महिलाएं।
– महिलाओ में इस बार मतदान के प्रति काफी उत्साह रहा।
– एक एक्सीडेंट में अपने पैर में लगी चोट के बावजूद वोट करने पहुंचे आभास व्यास।
– इस लंबी उम्र में भी बुजुर्गो में दिखा मतदान के प्रति जज्बा, लाठी के सहारे पहुंचे मतदान करने।
– सुबह-सुबह मतदान केंद्रो पर रही मतदाताओ की भीड़, लगी लंबी लाईने।
– अपनी पत्नि और पोते के साथ मतदान करने पहुंचे बुजुर्ग मांगीलाल पुरोहित।
– अपने पोते के साथ खुशी-खुशी मतदान करने पहुंची वयोवृद्ध हिरीबाई किसना चौहान।
– वन कन्या आश्रम में हुए मामूली विवाद के बाद जमा हुई भीड़।
– यु़वा वोटरो ने मतदान के बाद कुछ यूं किया सेलिब्रेशन।
– जो भी दिव्यांग मतदान केंद्रो पर पहुंचा, उसे पुलिसकर्मियो ने जिम्मेदारीस्वरूप मतदान कराया।