शोचालय मांगने जनपद पहुँची गोपालपुरा गांव की 54 घरो की महिलाएँ

झाबुआ लाइव के लिऐ मेघनगर से “भूपेंद बरमंडलिया” की स्पेशल रिपोट॔ ॥ विगत 15 अगस्त को दिल्ली के लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश मे स्वच्छता अभियान चलाने ओर खुले मे शोच की पृवति को खत्म करने के लिऐ एक जनआंदोलन शुरु करने की आवश्यकता पर बल दिया था अब उसका असर दिखाई देने लगा है इस बात को लेकर जनचेतना अब दिखाई देने लगी है दिल्ली के लाल किले से 850 किलो मीटर दुर झाबुआ जिले के मेघनगर जनपद क्षेत्र के “गोपालपुरा” गांव मे कल यह जन चेतना तब देखने को मिली जब इस गांव के 54 घरों की महिलाएँ एक साथ मेघनगर पंचायत परिसर मेघनगर पहुँची ओर खुद के गांव ओर घरों के लिऐ शोचालय की माग की । इन महिलाओ का आरोप था कि पंचायत से शोचालय मांगते मांगते वह थक गई है ओर परेशान होकर जनपद पहुँची है गांव की मंजू ओर गंगाबाई ने झाबुआ लाइव को बताया कि जब देश के प्रधानमंत्री जी ऐसा चाहते है कि भारत स्वच्छता अभियान के तहत घर घर मे शोचालय बने तो प्रशासन को क्या दिक्कत है सचिव हमे टरका क्यो रहे है ।

“कलेक्टर बी चंद्रशेखर ने गोपालपुरा की इन महिलाओं की जनचेतना को सराहते हुऐ कहा कि यह एक बडी बात है कि महिलाएँ घरों से निकलकर शोचालय मांगने अधिकार पूव॔क आई है यह जनचेतना की हमे अपेक्षा है कलेक्टर ने झाबुआ लाइव से कहा कि अगले एक सप्ताह मे हम गोपालपुरा मे शोचालय निर्माण शुरु करवा देंगे ” IMG-20150428-WA0029