बस स्टैंड पर यातायात व्यवस्था बदहाल, बस व टेम्पो चालकों की मनमर्जी से अवैध पार्किंग बनी विवादों का कारण

0
107

भूपेंद्र बरमडंलिया, मेघनगर
जिले के सबसे व्यस्ततम बस स्टैंड मेघनगर इन दिनों बदहाली के आंसू बहा रहा है, यहां पर जैन तीर्थ में देश का सबसे बड़ा मोहनखेड़ा तीर्थ जाने के लिए एकमात्र मेघनगर रेलवे यात्री बस स्टैंड से आना-जाना करते हैं । जिले का सबसे बड़ा औद्योगिक क्षेत्र जिले का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन होने से मेघनगर बस स्टैंड पर हजारों लोगों कीदिनभर में आवाजाही रहती है। लेकिन बदकिस्मती कहे तो मेघनगर बस स्टैंड पर यातायात व्यवस्था सुधारने के प्रति जिम्मेदारों का ध्यान नहीं है। इसी कारण आए दिन यहां पर विवाद की स्थिति बनती है। बदहाल यातायात व्यवस्था और अवैध पार्किंग के चलते किसी भी दिन यहां पर बड़ा हादसा हो सकता है। रविवार को भी अवैध रूप से खड़े एक चारपहिया वाहन चालक और बस संचालक में विवाद हो गया। हालांकि लोगों ने इसे शांत करवा दिया। बस स्टैंड पर हमेशा की भांति रविवार को भी अव्यवस्था दिखाई दी। अक्सर यह भी देखा जाता है कि बस स्टैंड पर व्यापारियों की दुकान के आगे भी वाहन बेतरतीब तरीके से खड़े करके लॉक कर देते हैं जिससे ग्राहकों एवं व्यापारियों के बीच संपर्क टूट जाता है जिससे अक्सर व्यापारियों व वाहन मालिको के बीच विवाद होता है यहां पर लोग रेंगती बसों व तूफान मैजिक टेम्पो से परेशान हो जाते हैं तो कभी अवैध पार्किंग से। ऐसा नहीं है कि किसी को इस बारे में खबर न हो। बसो की रेंगती चाल से सब परेशान स्टैंड से रोज सैकड़ों बसें निकलती हैं। बस जहां खड़ी होती है वहां से स्टैंड के बाहर निकलने में ज्यादा से ज्यादा 10 सेकंड लगत हैं लेकिन बस संचालक की मनमानी का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि एक बस को अपने स्थान से बाहर निकलने में करीब 5 से 10 मिनट तक लग जाते हैं। इस रेंगती चाल के कारण भी सबसे ज्यादा जाम लगता है।
अवैध पार्किंग भी विवाद का कारण स्टैंड पर केवल बसों के खड़े होने के लिए ही जगह निर्धारित है जबकि अन्य जो लोडिंग वाहन नही है सिर्फ चारपहिया वाहनों के लिए पास ही में दशहरा मैदान पर एक ओर कोने में जगह निर्धारित कीए लेकिन चारपहिया वाहन संचालक भी मनमर्जी चलाते हैं। दशहरा मैदान की बजाए ये अपने वाहन बस स्टैंड परिसर में ही खड़े कर देते हैं। इतना ही नहीं दशहरा मैदान पर एक रसूखदार परिवार द्वारा बिना बिना फिटनेस एवं केरोसिन से चलने वाले 10 चक्का ट्रेलर हमेशा दशहरा मैदान पर भारी वाहन की आवाजाही के नो पार्किंग होने के बावजूद भी खड़े कर दिए जाते हैं जिससे आसपास में चोरी का खतरा बना रहता है। अब नगर के लोगों को उम्मीद है कि स्थानीय प्रशासन इस मामले में जल्दी कुछ एक्शन लेगा।


इस बारे में स्थानीय रहवासी जयश झामर कहते हैं कि सही बात है बस स्टैंड पर यातायात व्यवस्था खराब है। अवैध पार्किंग व मनमानी करने पर बस संचालकों पर कार्रवाई की जाएगी। बेहतर व्यवस्था देने का प्रयास करेंगे।

जिम्मेदार बोल-
बस स्टैंड पर जगह कम होने से अक्सर या समस्याओं को देखा जा सकता है हमारे ट्राफिक जवानों की मदद एवं स्थानीय वाहनों एव बस संचालकों को समझाइश देकर इस मामले में एक्शन लिया जाएगा। -आरती चराटे, थाना प्रभारी
———————-
पार्किंग की समस्या बस स्टैंड पर वास्तव में है इसे लेकर पुलिस की मदद से नगर परिषद वाहन पार्किंग के लिए लाइन डालने के साथ-साथ अन्य व्यवसायों पर भी ध्यान देगा।– प्रमोद तोषनीवाल, सीएमओ