BIG NEWS: निशा किन्नर हत्याकांड में पेटलावद की कमलाबाई भी थी शामिल, ऐसे रची थी हत्या की साजिश….

0
5944

झाबुआ Live डेस्क
किन्नरों में इलाके की गद्दी हथियाने को लेकर जंग इतनी बढ़ गई कि एक दूसरे को गुरु व शिष्य मानने वाले किन्नर एक-दूसरे की जान के दुश्मन हो गए। दोनों ने एक-दूसरे को मारने की साजिश तक कर ली। इसी वर्चस्व की जंग के चलते ममता ने तीन लोगों के साथ मिलकर निशा की गला दबाकर हत्या कर दी। मामले में राजस्थान पुलिस ने रावतभाटा की पूर्व नगरपालिका चेयरमैन ममता किन्नर समेत तीन को गिरफ्तार कर लिया।
यह था मामला
एसपी सिटी दीपक भार्गव ने प्रेस कान्फ्रेंस में खुलासा किया कि 10 अक्टूबर को साजीदेहड़ा निवासी निर्मला पत्नी राजू उर्फ निशा किन्नर ने किशोरपुरा थाने में दर्ज करवाई रिपोर्ट में बताया कि उसके पति राजू उर्फ निशा किन्नर 16 सितम्बर को साथी व पूर्व नगरपालिका चेयरमैन ममता किन्नर, कमला किन्नर, चालक मुकेश व इमरान के साथ किन्नर सम्मेलन में भाग लेने अशोकनगर गए थे। इसके बाद 24 सितम्बर सुबह 8 बजे उसे सूचना दी कि ममता किन्नर के मकान पर निशा की मौत हो गई है। जब वह ममता के मकान पर पहुंची तो देखा कि निशा के शव के पास ममता, काजल, फिरोज, कमला, मनीषा व ममता का ड्राइवर मुकेश और इमरान मौजूद थे। निर्मला ने बताया कि आपसी रंजिश के चलते पहले भी इनमें कई बार झगड़े हुए थे। निर्मला ने पति राजू उर्फ निशा किन्नर की हत्या का आरोप लगाया। उसने बताया कि उसके पति के शरीर से गहने भी गायब थे। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू की।
जांच टीम का गठन
इस मामले में किशोरपुरा सीई बाबूलाल मीना के नेतृत्व में टीम गठित की गई। टीम ने साजीदेहड़ा निवासी ममता किन्नर (50), झाबुआ के पेटलावद निवासी कमलाबाई किन्नर, कोटा निवासी मुकेश व पेटलाबद निवासी इमरान से पूछताछ की तो सारा मामला खुल गया। आरोपियों ने बताया कि गुरु ममता किन्नर व चेले निशा उर्फ राजू किन्नर में एरिया व गद्दी हथियाने को लेकर विवाद था।
अशोकनगर से लौटते हुए की हत्या
कई बाद विवाद के बाद निशा ने ममता किन्नर को ठिकाने लगाने की साजिश रची। जैसे ही ममता को इसका पता चला, उसने भी निशा की हत्या का प्लान बनाया। 16 सितंबर को ममता किन्नर अपने ड्राइवर मुकेश व राजू उर्फ निशा किन्नर को अशोक नगर ले गई। यहां ममता की मुंहबोली बेटी कमलाबाई किन्नर, चालक इमरान, ममताबाई किन्नर व उसका ड्राइवर मुकेश, निशा किन्नर 23 सितम्बर को कार में अशोकनगर से रवाना हुए। शाहबाद के निकट मुकेश, इमरान, ममता किन्नर ने मौका पाकर निशा की गला दबाकर हत्या कर दी। उसके बाद उसके शव को साजीदेहड़ा लाकर दिल के दौरे से मौत होना बताया। आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया। इसके बाद पुलिस ने इन्हें गिरफ्तार कर लिया।