सूर्य नमस्कार का दिया जा रहा प्रशिक्षण

महिलाओं द्वारा सूर्य नमस्कार का किया जारहा अभ्यास
महिलाओं द्वारा सूर्य नमस्कार का किया जारहा अभ्यास

झाबुआ । आगामी 12 दिसम्बर को स्वामी विवेकानंद के जन्म जयंती दिवस को महिला योग परिवार द्वारा मनाये जाने के लिये सूर्य नमस्कार योग क्रियाओं का प्रशिक्षण योग गुरू एवं शिक्षिका रूकमणीवर्मा द्वारा शुक्रवार से महिला योगार्थियों को दिया जारहा है । इसमे रूकमणी वर्मा द्वारा महिला योगाभ्यासियों अपनी सहायिका मधु जोशी के सहयोग से ज्योति जोशी, जरिना अंसारी, शिवकुमारी सोनी, हंसा उपाध्याय, साधना वास्केल, गायत्री सास्तिया, कृष्णा शेखावत, जयश्री, चंदा धाकरे, प्रभा सिर्सादिया, ममता जैन, रोचना खण्डेलवाल, माया पंवार, भावना शाह एवं अंशु मेहता को योगाभ्यास के दौरान सूर्य नमस्कार के आरोग्यमय प्रभाव के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई । सुश्री रूकमणी वर्मा ने सूर्य नमस्कार का प्रशिक्षण देते हुए बताया कि सूर्य नमस्कार से सम्पूर्ण शरीर को आरोग्य,शक्ति एवं उर्जा प्राप्त होती है । इसे 11 से 21 बार तक यथाशक्ति आवृति किया जासकता है । इसमें मुख्यतः प्रार्थना मुद्रा, अर्द्ध मत्स्यासन, पाद हस्तासन, अश्वसवंचालन, पर्वतासन, अष्टांगासन, भूजंगासन, पुनः पर्वतासन, पुनःभूजंगासन,पुनःपादहस्तासन एवं पुनः प्रार्थना की मुद्रा की क्रमबद्ध तरिके से आवृति होती है । उन्होने बताया कि सूर्य नमस्कार पूर्ण व्यायाम है । मानसिक शांति एवं बल,ओज व तेज में इससे बढोत्री होती है । मधुमेह के रोगियों के लिये तो यह रामबाण प्रयोग है । सूर्य नमस्कार सम्पूर्ण शरीर को पूर्ण आराग्यता प्रदान करता है । वर्मा ने नगर की सभी इच्छूक महिलाओं से अपील की है कि वे भी प्रतिदिन प्रातः 6 बजे से एक घण्टे तक आयोजित होने वाले महिला योग शिक्षण में सहभागी होकर स्वास्थ्य लाभ के गुर निशुल्क प्राप्त करें ।