झाबुआ विधानसभा के लिऐ कांग्रेस से इन नेताओ ने आवेदन कर मांगा टिकट

0
3678

झाबुआ Live 

विधानसभा चुनाव की उल्टी गिनती और तैयारियां शुरु हो गई है। प्रदेश कांग्रेस प्रभारी दीपक बावरिया के फॉर्मूले के अनुसार झाबुआ विधानसभा से 7 कांग्रेस नेताओं ने 25-25 हजार के डिमांड ड्राफ्ट के साथ आवेदन किया है।

चंद्रभान सिंह भदोरिया @ चीफ एडीटर (9425487490 ) 

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव की उल्टी गिनती शुरु हो गयी है प्रदेश कांग्रेस प्रभारी दीपक बावरिया ने विगत डेढ़ महीने पहले सामान्य और पिछड़े वर्ग के आवेदकों को, 50 हजार एंव एसटी-एससी वर्ग के आवेदकों को रुपए 25 हजार के साथ विधानसभा चुनाव में टिकट का आवेदन करने को कहा था। झाबुआ विधानसभा क्षेत्र की बात करें तो अभी तक 7 नेताओं द्वारा आलाकमान से विधायक पद का टिकट रुपए 25 हजार का डिमांड ड्राफ्ट बनाकर मांगा गया है जिन नेताओं ने यह आवेदन किए है उनकी सूची और प्रोफाइल इस प्रकार है।
1. विक्रांत भूरिया : (चिकित्सा क्षेत्र के गोल्ड मेडल विजेता) : आदिवासी जनचेतना यात्रा निकालकर आला नेताओं और ग्रामीणों में लोकप्रिय हुए सांसद पुत्र है। झाबुआ नगर पालिका 20 साल बाद वापिस कांग्रेस की झोली में डालने की रणनीति का श्रेय इन्ही को जाता है। हर तरह के कैंपेन में माहिर सोशल मीडिया का सबसे ज्यादा इस्तेमाल करने वाला चेहरा युवा है और 47 आदिवासी सीटों पर आदिवासी जन चेतना यात्रा निकालने की रणनीतिक जिम्मेदारी भी इनके कंधों पर है। रतलाम लोकसभा उपचुनावों मे भी डॉ. विक्रांत भूरिया की उल्लेखनीय भूमिका, फर्राटेदार अंग्रेजी भी बोलते है तो आदिवासी परंपराओं को मनाते भी दिखते है। हाल ही में एआईसीसी के मेंबर भी बनाए गए है।
2. कलावती भूरिया : (लगातार 15 सालों से जिला पंचायत अध्यक्ष है) कांग्रेस की मैदानी लड़ाइयों मे अग्रणी भूमिका निभाती है। सांसदजी की भतीजी है, कांग्रेस का थादंला से मिला टिकट नकार चुकी है झाबुआ विधानसभा पिछली बार निर्दलीय लड़ी थी। तीन बार कांग्रेस की जिलाध्यक्ष रह चुकी है, एआईसीसी मेंबर है।
3. जेवियर मैडा : (पूर्व विधायक है वर्ष 2008 में अचानक टिकट लाकर चौंकाया था) अभी भी राहुल गांधी के करीबीयों से उम्मीद।
4. मानसिंह मेड़ा : (कांग्रेस के बुजुर्ग नेता है अब सक्रियता थोडी कम है पार्टी से एक बार बागी भी हो चुके है प्रभाव झाबुआ जनपद इलाका है)
5.. कैलास डामोर : पूर्व नगर परिषद अध्यक्ष राणापुर है, कांग्रेस में कलावती भूरिया के दाहिने हाथ माने जाते है। राणापुर नगर और ग्रामीण इलाके में अच्छी पहचान है फिलहाल संगठन में बूथ स्तर की जिम्मेदारी देख रहे है।
6. शंकर भूरिया : झाबुआ जनपद मे विजय डेढ़ दशक से शंकर भूरिया या उनके परिवार का कोई न कोई अध्यक्ष रहा है परिस्थिति कोई भी रही हो कांग्रेस के साथ खड़े रहे। झाबुआ जनपद इलाके में ठीक ठाक छवि।
7. काना गुंडिया : झाबुआ जनपद के पिटोल इलाके के नेता है एक दशक से पिटोल और आसपास के गांवों मे अच्छी पकड़ है । 

झाबुआ Live – आपको रखे सबसे आगे – वाट्सएप पर झाबुआ Live की खबरें पाने के लिए नंबर 9425487490 को Live नाम से सेव करें ओर Live news लिखकर मैसैज भेजें । आपको वाट्सएप पर खबरें मिलने लगेगी 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here