इस आईएएस अफ़सर ने बदल दी पेटलावद क्षेत्र की तस्वीर; आजादी के 75वें अमृत महोत्सव पर हुए सम्मानित…

0
201

सलमान शैख@ झाबुआ Live

आईएएस अफसर का जिक्र होते ही मन में छवि उभरती है सुख-सुविधाओं की, रौब-रसूख की, तीखे तेवरों की। आज देश के एक औसत युवा के मन में झांकें तो आईएएस अफसर होने का मतलब है, करीब-करीब बादशाह हो जाना। एक ऐसा बादशाह जिसके सामने पूरा प्रशासनिक अमला सिर झुकाए, हाथ बांधे खड़ा दिखाई देता है।
कमोबेश ऐसा है भी, लेकिन जरूरी नहीं कि सभी आईएएस अफसर ऐसे ही हों, ऐसे तमाम उदाहरण हैं जहां आईएएस अफसरों ने खुद को सही मायनों में लोकसेवक समझा।
ऐसे ही आईएएस अफसर वर्तमान में पेटलावद के एसडीएम शिशिर गेमावत है। जिनका आज आजादी के 75 वें अमृत महोत्सव स्वतंत्रता दिवस के मौके पर उत्कृष्ट कार्य के लिए प्रभारी मंत्री इंदरसिंह परमार ने पुरस्कृत किया है।
गौरतलब है कि एसडीएम शिशिर गेमावत को क्षेत्र में पदस्थ हुए 2 वर्षो का समय पूरा होने जा रहा है। पिछले 02 वर्षों में एसडीएम गेमावत ने पेटलावद क्षेत्र में अपने कामकाज से प्रभावी छाप छोड़ी है। इन्होंने पदभार ग्रहण करते ही जिले में अनाज की कालाबाजारी करने वाले माफियाओं पर प्रभावी कार्यवाही कीथी जो न सिर्फ जिले में बल्कि पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय बनी थी। इसके राजस्व खसरे के शाशन के शुद्धिकरण अभियान में भी उत्क्रष्ट कार्य करते हुए एसडीएम गेमावत ने रिकॉर्ड को अपडेट करने में सराहनीय मोनिटरिंग की थी। वहीं एसडीएम गेमावत के नेत्रत्व में केंद्र सरकार की किसान हितेषी महत्वपूर्ण योजना पीएम किसान योजना के तहत शासन की इस योजना में कम समय मे बेहतरीन कार्य करते हुए पूरे प्रदेश में सबसे पहले ओर सबसे तेज काम किया था जिससे क्षेत्र के किसानो को काफी लाभ हुआ। कोरोना काल की विषम परिस्थितियों में कम संसाधनों के साथ काम करना है, या वेक्सिनेशन लगवाने मे पूरे जिले में प्रथम रिकार्ड बनाने के साथ ही बल्कि आदिवासी अंचल के सभी जिलों में पेटलावद ब्लॉक राज्य स्तर तक प्रथम रहा है। ला एन्ड ऑर्डर कि स्थिती को सही तरीके से निपटने के अलावा, जनकल्याण की योजनाओं का सही तरीके से क्रियान्वित करना हो या पात्र व्यक्ति को लाभान्वित करने के अलावा जनता कि शिकायत का त्वरित हल निकालने के अलावा नगर में गत दिनों जिलेटिन की छड़ो को रखने वालों पर त्वरित कार्यवाही के अलावा गत दिनों सम्पन्न हुए त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में उत्कृष्ट प्रदर्शन और उम्मीद से ज्यादा मतदान करवाने सहित कलेक्टर सोमेश मिश्रा के नेतृत्व में एसडीएम गेमावत ने अनुभाग के राशन माफियाओं ओर शराब माफियाओ पर भी सख्त कार्यवाही की गई। इसके अलावा इनके ओर तहसीलदार जगदीश वर्मा के द्वरा बनाये गए प्रपोजल को ही शासन से मंजूर कर लिया ही जिसके चलते जल्द ही पेटलावद में नवीन अनुविभागीय कार्यालय भवन भी बनने की तैयारी हो रही है। इस तरह एसडीएम शिशिर गेमावत के छोटे से कार्यकाल की ओर भी ऐसी कई कार्य है जो उनके कार्यकाल की उपलब्धियो के रुप मे गिने जाने जाएंगे।
एसडीएम गेमावत की इन्ही उत्क्रष्ट कार्यो के चलते जिला मुख्यालय पर आयोजित कार्यक्रम में सम्मानित किया गया।  इस अवसर पर कलेक्टर सोमेश मिश्रा, एसपी अरविंद तिवारी आदि उपस्थित थे। एसडीएम गेमावत के समानित होने पर पूरे अनुभाग ओर जिलेवासियों ने शुभकामनाये ओर बधाई दी।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here