सामूहिक श्रद्धांजलि

झाबुआ लाइव के लिए थांदला से रितेश गुप्ता की रिपोर्ट –
thandlaपेटलावद हुए दर्दनाक हादसे में मृत लोगो को नगर के सभी धार्मिक एवं सामजिक संगठनो ने सामूहिक रुप से एकत्रित होकर भावभिनी श्रंद्धाजलि दी। स्थानीय आजाद चोक पर भक्त मलूक दास रामायण मंडल, मानवाधिकार संगठन, लायंस क्लब, नगर विकास समिति, तहसील पत्रकार संघ, श्रमजीवी पत्रकार संघ, ब्राह्मण समाज, नागर समाज, गायत्री परिवार, जैन समाज, मुस्लिम समाज, क्रिश्चिन समाज, श्रवर्णकार समाज, राज्य कर्मचारी संघ के पदाधिकारियों एवं सदस्यों समेत सभी समाजजनों एवं संगठनों ने बड़ी संख्या में उपस्थित होकर दीपक जलाकर एवं मोन रखकर दुखद हादसे मे मृत आत्माओं की शांति हेतु प्रार्थना की।
कैंडल मार्च
सृजन सामाजिक सस्थां के नेतृत्व मे छात्रावास के बच्चों ने स्थानीय पुरानी नगर पंचायत चैराहे से कैंडल मार्च निकाला जो अम्बे माता मंदिर चैराहा, जवाहर मार्ग होता हुआ आजाद चैक पहुचा एवं सामूहिक श्रद्धांजलि कार्यक्रम में हिस्सा लिया।

धार्मिक एवं सामाजिक संस्थाओं ने दी पेटलावद त्रासदी के मृत लोगों को श्रद्धांजलि
DSC09341झाबुआ । पेटलावद में हुए ब्लास्ट कांड में मृत हुए करीब 100 व्यक्तियों की आत्मीय शांति एवं घायल हुए करीब 300 व्यक्तियों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना के लिए आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट एवं नगर की समस्त धार्मिक एवं सामाजिक संस्थाओं के बैनर तले स्थानीय राजवाडा चोक पर नगर की सभी समाजसेवी संस्थाओं, नगर के सभी जाति, धर्म, वर्ग के लोगो, धार्मिक संस्थाओं की ओर से मृतक हुए लोगों की आत्मीय शांति के लिये मोमबत्तियां जला कर तथा दो मिनट मौन रख कर श्रद्धांजलि का सामूहिक कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में नगर के सभी ने बडी संख्या में भाग लेकर श्रद्धांजलि सभा में भाग लिया। राजवाडा चोक पर सैकड़ों लोगों ने एकत्रित होकर मोमबत्तियां जला कर मृतकों के प्रति संवेदनाएं व्यक्त करते हुए उनकी आत्मीय शांति की प्रार्थना की। त्रिवेदी ने आगे कहा कि भविष्य में मानवता की क्रुरतम हत्या न हो इसके प्रयास किये जाना चाहिए। पेटलावद की यह यह घटना असामयिक घटी है और इसमें कितनी ही भावना-संभावनाएं काल के ग्रास में समां गइ। आज श्रद्धाजंलि के द्वारा हम ऐसे प्रभावित परिवारों के प्रति अपनी संवेदनाएं व्यक्त करने यहां एकत्रित हुए। राजवाडा चोक पर आयोजित इस श्रद्धाजंलि सभा में सभी ने दो मिनट का मौन रख कर भाव विव्हल श्रंद्धांजलि अर्पित कर मृतकों की स्मृति में मोमबतियां लगा कर उन्हे अपनी श्रद्धाजंलिया अर्पित की। कार्यक्रम का संचालन नीरजसिंह राठौर ने किया।