मध्यप्रदेश का ऐतिहासिक हनुमान जयंती महोत्सव शुक्रवार से शुरू

19 17 झाबुआ लाइव के लिए मेघनगर से भूपेंद्र बरमंडलिया की रिपोर्ट। पूरे मध्यप्रदेश में अपनी एक अलग पहचान बना चुका श्री वनेश्वर मारुति नंदन हनुमान जयंती महोत्सव शुक्रवार को कलश यात्रा से प्रारंभ होगा। आयोजन के शिल्पकार और प्रदेश में मानव सेवा का पर्याय सुरेशचन्द्र पूरणमल जैन ने बताया कि मैं भारत के कोने-कोने से आकार इस आयोजन को सफल बनाने वाले श्रद्धालुओं का आभार तहेदिल से मानता हूं जिन्होंने 6 वर्ष पूर्व प्रारंभ हुए एक छोटे से आयोजन को प्रदेश के सबसे बड़े धार्मिक महाकुंभ की पहचान दिलाई। इस इस बार भी इस आयोजन के लिए मैं सभी को स्नेहिल आमंत्रण देता हूं।
कलश यात्रा से प्रारंभ होगा मध्यप्रदेश का सबसे बड़ा धार्मिक महोत्सव
युवा समाज सेवी रिंकू जैन ने बताया की श्री अम्बे, मां महालक्ष्मी और महासरस्वती की षष्टम वर्षगाठ पर आयोजित हनुमान जयंती महोत्सव में 15 अप्रैल से 22 अप्रैल तक धर्म की गंगा बहेगी। 16 अप्रैल से 22 अप्रैल तक प्रतिदिन सुबह 10 बजे से दोपहर 1. 30 बजे तक बालव्यास श्रीराधा स्वरूपा पूज्या जया किशोरी जी के मुखारविंद से श्रीमद भागवत कथा का आयोजन किया जाएगा। इसके साथ ही प्रतिदिन शाम 8 बजे से भारत की धार्मिक संस्कृति को मजबूत करने वाले मनमोहक कार्यक्रम होंगे जिसमे विश्व स्तर के जाने माने कलाकार अपनी प्रस्तुतियां देंगे। मंदिर में भगवान की प्रतिमाओ के साथ पूरा फुटतालाब इस समय दुल्हन की तरह आकर्षक रूप से सजा हुआ है। मंदिर के महंत मुकेशदास महाराज और जैकी जैन ने प्रतिदिन शाम को होने वाली श्रीराम भक्त हनुमान की आरती के लिए भी नगर और प्रदेश वासियों कार्यक्रम में भाग लेने की अपील की।
दुल्हन की तरह सजा फुट तालाब
पूरे प्रदेश की आस्था के केंद्र और हनुमान की तपोभूमि वनेश्वर मारुतिनंदन हनुमान मंदिर फुटतालाब पर प्रति मंगलवार और प्रति शनिवार भी दूर दूर से लोग दर्शनों के लिए आते हैं। इसके साथ ही मंदिर में भोलेनाथ, सांवरिया सेठ की आकर्षक मूर्तियो के दर्शन के साथ, श्रीगणेश मां अम्बे, मां महालक्ष्मी और मां सरस्वती के भी दर्शन करने बड़ी संख्या में भक्त पहुंचते है। कलश यात्रा का प्रारंभ स्थानीय सुराना कम्पाउंड से सुबह 10 बजे होगा । नगर के प्रमुख मार्गो से होती हुए यह धार्मिक और निमंत्रण यात्रा नगर के प्रमुख चौराहों से होती हुई श्री वनेश्वर मारुति नंदन हनुमान मंदिर फुटतालाब पहुंचेंगी। नगर और जिले वासियो में इस यात्रा को लेकर अपर उत्सव दिखाई दे रहा है । जगह जगह कलश यात्रा के स्वागत की तैयारी अलग अलग धार्मिक संगठनो और समाजजनो द्वारा की जा रही है । इस कलश यात्रा में लगभग 2 हज़ार महिलाओं के साथ गुजरात, मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र के बेहतरीन कलाकार अपनी प्रस्तुतियां देते हुए चलेंगे । उल्लेखनीय है कि इस आयोजन में प्रतिदिन प्रदेश के 20 से 25 हजार लोग शामिल होते है। पूरे वर्ष प्रदेशवासियों, नगर और जिलेवासियो को इस आयोजन का बेसब्री से इंतजार रहता है ।
वृंदावन के कलाकार देंगे रासलीला की अदभूत प्रस्तुति
शुक्रवार शाम को वृंदावन के श्रेष्ठ कलाकारों द्वारा मनमोहक श्रीकृष्ण की रासलीलाओं की अलग अलग प्रस्तुतियां दी जाएगी। श्रीराम दास त्यागी टाट वाले बाबा ने जानकारी देते हुए बताया की विश्वभर में प्रसिद्ध वृंदावन बिहारी की इन लीलाओ का निहारना भी धर्म लाभ से कम नहीं है। आज से ही ग्रामीणों और वनवासियों के लिए मेला भी प्रारंभ होगा। मेले में अलग अलग तरह के झूलों के साथ कई तरह की दुकाने भी लगेगी। श्री जैन और श्री वनेश्वर मारुति नंदन हनुमान मंदिर समिति के सदस्यो ने नगर, प्रदेश और जिलेवासियों से आयोजन में पधारने का अनुरोध किया। वनेश्वर हनुमान मंदिर समिति फुटतालाब ने प्रतिदिन होने वाले भंडारे का लाभ लेने की भी अपील की है।