विरोधियों ने चूका “मौका-मौका”, कलावती ने जमाया जीत का चौका चौका

झाबुआ आजतक डेस्क: कलावती भूरिया लगातार चौथी बार जिला पंचायत अध्यक्ष चुनी गई। पार्टी के भीतर और विपक्ष से मिल रही कड़ी चुनौतियों के बावजूद कलावती भूरिया जीत का चौका जमाने में कामयाब रही। उनकी इस जीत के साथ कांतिलाल भूरिया ने एक बार फिर अंचल में अपना दबदबा कायम किया। वही उपाध्यक्ष पद पर भी कलावती भूरिया के कट्टर समर्थक चन्द्रवीर सिंह राठौर ने जीत हासिल की है।

हालांकि, कलावती का निर्वाचन निर्विरोध ना होकर चुनाव के जरिए हुआ। अध्यक्ष पद के लिए हुए मतदान में कलावती को नौ वोट मिले जबकि उनके विरोधी उम्मीदवार थांदला विधायक कल सिंह भाबर के भाई बहादुर सिंह को 4 वोट मिले।

कलावती भूरिया चौथी बार अध्यक्ष ना बने इसलिए विपक्ष और कांग्रेस के भीतर भूरिया विरोधी परदे के पीछे एक हो गए थे। खासतौर पर पूर्व कांग्रेसी विधायक जेवियर मेड़ा और वालसिंह ने खुलकर पार्टी से बगावत करते हुए कलावती का विरोध किया था।

दरअसल इस गुटबाजी की नींव विधानसभा चुनाव में ही रखी जा चुकी थी। कलावती ने पार्टी से बगावत कर जेवियर के खिलाफ चुनाव लड़ा था। बगावत की वजह जेवियर चुनाव हार गए और कलावती भी जीत नहीं सकी थी।

कलावती को फिर पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया था। हालांकि कांतिलाल भूरिया ने अपना दबदबा दिखाते हए अपनी भतीजी को वापस पार्टी शामिल करा लिया।