विराट वैदिक सम्मेलन में जुटेंगे देशभर के प्रख्यात विद्वान : महर्षि दयानंद सेवाश्रम में गुरुकुल की तर्ज पर विद्यार्थियों ने हासिल ऊंचे मुकाम

0
262

रितेश गुप्ता, थांदला

अखिल भारतीय दयानन्द सेवाश्रम संघ दिल्ली शाखा थान्दला के स्थापना के 50 वर्ष पूर्ण होने पर आयोजित स्वर्ण जयन्ती समारोह के अवसर पर विराट वैदिक सम्मेलन का शुभारंभ  11 जनवरी  को व समापन 13 जनवरी को होगा। अपने 50 वर्ष पुरे कर कर रहे महर्षी दयानन्द सेवाश्रम आदिवासी अंचल में अपनी एक विशीष्ट छाप छोड़ी है। वर्ष 1968 से स्थापीत इस संस्था का शुभारंभ स्व.मोतीलाल नागर के किराये के भवन में किया जिसमें शुरुवाती वर्ष में मात्र 25 बच्चे अध्ययन रत रहे। अपने इस 50 वर्ष में आश्रम संचालन ने कई उतार चढ़ाव देखे। स्टेशन मास्टर स्व.रामकृष्ण बजाज,हसमुखलालजी सोनी, रामचन्द्र सेनी, रामचन्द्र परमार, परमानंद जी सोलीकी सहीत नगर के चिंतक जनों द्वारा आश्रम की निवं जमाने में भरकस प्रयास किये गये जिसका परिणाम है कि आज आश्रम के पास स्वंय का परिसर एवं वेद शिक्षा के साथ मुल शिक्षा प्राप्त कर रहे सैकड़ो बच्चें यहां अध्ययनरत है। आश्रम से शिक्षा प्राप्त कर कई विद्यार्थी अनेके क्षेत्रों में उन्नती कर रहे है व बडे पदों पर आसीन है आश्रम के ही विद्यार्थी गा्रम भिमकुण्ड के रमेश भिमिंसंग आर्य सैन्ट्रल जेल मे जैलर है वही रामसिंग कटारा सहायक संचालक बने तो यही के छात्र बहादुर सिंह आर्य कोरबा में एस बी आई बैक के मेनेजर है। समय के साथ साथ आश्रम में बेद ज्ञान के साथ शिक्षा के क्षेत्र में बदलाव कर आधुनिक शिक्षा पद्धती को अपनाया व अध्ययनरत विद्यार्थीयों की शिक्षा के स्तर को बड़ाया। प्रतिवर्ष होने वाले राष्ट्रीय आयोजनों में आश्रम में विद्यार्थीयों द्वारा किये जाने वाला मल्लखम एवं योग प्रदर्शन उन्है सभी सस्थाओं में अपनी प्रथक पहचान बताता नजर आया है।
गुरुकुल की तरह दिनचर्या
आश्रम मे अध्ययनरत एवं छात्रावास में रह रहे विद्यार्थीयों की दिनचर्या भी अन्य छात्रावासों भिन्न गुरुकुल की तरह है। यहा के विद्यार्थीयो की दिनचर्या बहम मुहर्त में प्रातः 4 बजे सुर्योदय पुर्व प्रारंभ हो जाती है जिसके उपरांत 5 बजेसे 6 बजे तक योग- व्यायाम,6 से 8 गजे स्वाध्याय, 8 से 9 बजे तक यज्ञ व संध्या पुजन,व 9 बजे से विद्यालय मे लग कर दोपहर तक शिक्षा संत्र, व सायं 6 बजे संध्या व वेदो का पाठ किया जाता है। भोजन एवं स्वाध्याय उपरान्त रात्री 9 बजे शयन कर विद्यार्थी अपनी दिनचर्या पुर्ण करते है। स्वर्ण जंयती पर आयोजित विराट वैदीक सम्मेलन मे देश भर के 100 से अधिक वैदिक विद्वानों को आमि़न्त्रत किया गया है।

)

नोट – अगर आप झाबुआ – अलीराजपुर जिले के मूल निवासी है ओर हमारी खबरें अपने वाट्सएप पर चाहते है तो आप हमारा मोबाइल नंबर 8718959999 को पहले अपने स्माट॔फोन मे सेव करे ओर फिर Live news लिखकर एक मेसेज भेज दे आपको हमारी न्यूज लिंक मिलने लगेगी

नोट : अगर पहले से हमारे मोबाइल नंबर 9425487490 से हमारी खबरें पा रहे हैं तो कृपया ऊपर वर्णित खबर पर न्यूज के लिए मैसेज न भेजे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here