भगवान की भक्ति मे लीन हुए समाजजन

झाबुआ लाइव के लिए रानापुर से एमके गोयल की रिपोर्ट।

अग्रवाल दिगंबर जैन मंदिर पूजा-अर्चना करती महिलाएं।
अग्रवाल दिगंबर जैन मंदिर पूजा-अर्चना करती महिलाएं।

दिगंबर जैन समाज के पर्वाधीराज पयुर्षण पर्व के तीसरे दिन अग्रवाल दिगंबर जैन मदिंर, बड़ा मंदिर जी मे उत्तम आर्जव धर्म के दिन भगवान की पूजा अराधना बड़ी धूमधाम से की गई महिलाओ द्वारा राजा नाभी के दरबार मे नृत्य किया नंदीश्वर दीप की पूजन की गई। श्रीजी भगवान अभ् िषेक किया। अग्रवाल जैन मंदिर मे पूजन का लाभ मदनलाल खेमचन्द अग्रवाल एवं बड़ा मंदिर जी मे नटवरलाल थाणिया परिवार के ओर से थी रात्रि सामायिक, शास्त्रवाचन, अनेक प्रतियोगिता रखी गई।
सात नरको के दुखो के बारे मे समझाया
रविवार को उत्तम आर्जव धर्म के बारे बताया गया। कपट,दगा, छल करना दुर्गती का कारण है हमं हृदय मे सरलता धारण करना चाहिए जिससे हमारी बातो का सभी विश्वास करे। आज तत्वार्थ सूत्र के तिसरे अध्याय मे पंडित अखिलेश शास्त्री जी ने सात नरको के दुखो के बारे मे बताया की वहा क्षण मात्र भी सुख नही होता अतः हमे पाप कार्य से दूर रहना चाहिए। इसी अध्याय मे मध्यलोक मे जंबुद्वीप भरत क्षेत्र विदेहक्षेत्र आदि का विस्तार वहा पर जिवो की आयु एकाल आदि का विस्तार से वर्णन कर समझाया। इसके पुर्व कल सायं पंडितजी का प्रवचन उत्तम मार्दव धर्म पर कहा मान करने वाला व्यक्ति कभी प्रशंसा को प्राप्त नही होता है।मान सिर्फ धन का ही नहीं वरन शरीर रुपए, हैसियत, बल ज्ञान, किसी का भी घमंड नहीं करना चाहिए क्योंकि ये सभी नश्वर है आज है और कल नहीं भी हो सकते है।