पेटलावद ब्लास्ट में केवल औपचारिकताएं पूर्ण की जा रही है: भूरिया

झाबुआ – जिले के पेटलावद मे हुए विस्फोट मामले में शासन द्वारा इंदोर मे जांच समिति का गठन कर जांच करवाई जा रहीं है, जिससे जांच मे पारदर्शिता आना संभव नहीं है। मामले की जांच समिति द्वारा जिला स्तर पर रहकर जांच करना चाहिए एवं सारे तथ्यांे को उजागर कर अतिशीघ्र घटना के मुख्य आरोपी राजेन्द्र कासवां को गिरफ्तार किया जाना चाहिए।

कलावती भूरिया, जिपं अध्यक्ष
कलावती भूरिया, जिपं अध्यक्ष

यह बात जिला पंचायत एवं जिला कांग्रेस कार्यवाहक अध्यक्ष कलावती भूरिया ने कहीं। सुश्री भूरिया ने कहा कि शासन द्वारा पेटलावद घटनाक्रम में केवल औपचारिकताएं पूर्ण की जा रहीं है। जो नियमानुसार जांच होना चाहिए, वह जांच नहीं की जा रहीं है। केवल मृतकों एवं घायलों के परिवारजना की संवेदनाएं हासिल करने के प्रयास किए जा रहे है। उन्हाने आगे बताया कि पेटलावद विस्फोट की जांच इंदोर मे हो रहीं है। इसमें स्थानीय जिला प्रशासन का कोई सहयोग नहीं लिया जा रहा है। इंदोर में जांच होने से जांच कमेटी घटनाक्रम के संपूर्ण तथ्य नहीं जुटा पा रहीं है।
जिला मुख्यालय पर रहकर होना चाहिए जांच – भूरिया ने आगे कहा कि इस मामले में जिला मुख्यालय पर जांच कमेटी को रहकर जांच करना चाहिए, जिससे कई बारीकी तथ्य भी उजागर होंगे एवं घटनाक्रम के मुख्य आरोपी राजेन्द्र कासवां को गिरफ्तार करने में टीम को अतिशीघ्र कामयाबी मिलेगी। उन्होने बताया कि वर्तमान में जांच दल द्वारा सारी सुविधाएं जिले से मांगी जा रहीं है। कम्प्यूटर, एसी आदि सुविधाओं की मांग की जा रहीं है। घटनाक्रम की विधिवत एवं बारीके से नियमानुसार जांच होना चाहिए, लेकिन कहीं न कहीं ऐसा प्रतीत हो रहा है कि लीपोपाती एवं औपचारिकताएं पूर्ण करने जैसा कार्य हो रहा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस, जब तक जांच पूरी नहीं होती, तब तक पूरी निगरानी रखेगी एवं दोषियों को सजा दिलाने तक अपना संघर्ष जारी रखेगी।
 निष्पक्ष जांच की मांग – भूरिया के साथ पेटलावद के पूर्व विधायक वालसिंह मेड़ा, थांदला के पूर्व विधायक वीरसिंह भूरिया, रूपसिंह डामोर, जिला पंचायत उपाध्यक्ष चंद्रवीरसिंह राठोर, कलावती गेहलोत, हीरालाल डाबी, पेटलावद ब्लाॅक कांग्रेस अध्यक्ष सुरेश मूथा, झाबुआ ब्लाॅक कांग्रेस अध्यक्ष हेमचंद डामोर, जीवन ठाकुर, नरेन्द्र कटकानी, सलीम शेख, वीरेंद्र निनामा, कमल नायक, दुलेसिंह बारिया आदि ने भी पेटलावद विस्फोट की घटना मे निष्पक्ष जांच की मांग की है।