ताजिये बनाने मे जुटे मुस्लिम समाजजन

झाबुआ लाइव के लिए थांदला से रितेश गुप्ता की रिपोर्ट।

खूबसूरत ताजिये बनाते मुस्लिम समाज के लोग
खूबसूरत ताजिये बनाते मुस्लिम समाज के लोग

मुस्लिम समुदाय आगामी त्योहार मोहर्रम को लेकर दिन-रात तैयारियों मे जुटा हुआ है।इस वर्ष मुस्लिम समुदाय के धर्मावलंबियो द्वारा लगभग एक दर्जन ताजियो का निर्माण किया जा रहा है। ताजिया बना रहे अली मुहम्मद, अकबर खान (कल्लूभाई), जाबीर शेख, आबीद हुसैन गोरी, रफीक भाई, जाकिर भाई, शहजाद भाई ने बताया कि मोहर्रम का चांद दिखते ताजियो का निर्माण प्रारंभ हो चुका था जो अब तक आधे से ज्यादा पूर्ण हो चुका है।समुदाय के युवाओ में भी पर्व को लेकर उत्साह है। 14 अक्टूबर को चांद दिखते ही मुस्लिम समुदाय का नया वर्ष प्रारंभ हो गया था।चांद देखने के बाद समुदाय के लोगो ने एक दूसरे को नए साल की बधाई दी। आगामी 21 अक्टूबर को मोहर्रम माह की 7वीं तारीख को मेहंदी का जुलूस नगर के विभिन्न मार्गो से निकलेगा। इसी तरह 23 अक्टूबर यानि मोहर्रम की 9 तारीख को ताजिये नगर भ्रमणकर पुनः अपने यथास्थान पहुंचेंगे। अगले दिन शाम को एक बार पुनः ताजिये नगर भ्रमण करेंगे तथा देर रात ताजियो का विसर्जन किया जाएगा। वही बोहरा समाजजन भी इन दिनों देर रात मस्जिद में मातम मना रहे है। बोहरा समाज का विशेष पर्व होने से कई समाजजनो अपने व्यापार, व्यवसाय बंद रख अधिकांश समय मस्जिदो मे ही गुजार रहे है।