ढाई लाख रुपए में सुपारी देकर करवाई थी प्रेमिका के पति की नृशंस हत्या, मुख्य आरोपी समेत सुपारी किलर गिरफ्तार

0
16564

विपुल पंचाल, झाबुआ
झाबुआ पुलिस ने 24 घंटे के भीतर ही सेल्समैन सुरेंद्र के हत्यारों को धरदबोचा। शनिवार को दोपहर 12 बजे एसपी महेशचंद्र जैन ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और बताया कि 17 मई को सेल्समैन सुरेंद्र की गुमशुदगी की रिपोर्ट उनके परिजनों ने दर्ज करवाई थी। इसके बाद 18 को सुबह 7 बजे सुरेंद्र की लाश मिली। पुलिस मौके पर पहुंची और मृतक का साथी राहुल जो कि सेल्समैन है उससे पूछताछ की। पूछताछ में राहुल जो कि मृतक का दोस्त है ने बताया कि मृतक की पत्नी से उसके संबंध थे और इसी कारण से उसने ढाई लाख रुपए देकर सुपारी दी सुरेंद्र की हत्या करवा दी। पुलिस ने मुख्य षड्ंयत्रकर्ता राहुल नायक व सुरेंद्र के हत्यारे बच्चूसिंह व राकेश को गिरफ्तार कर लिया है। हत्या के बाद पुलिस ने राहुल पिता रमण नायक को पकड़ा और पूछताछ की। आरोपी राहुल ने पुलिस पूछताछ में बताया कि मृतक की पत्नी के साथ उसके संबंध थे। एक बार मृतक ने राहुल और उसकी पत्नी को साथ में देखा भी था। आरोपी ने कहा कि मृतक उसके स्वयं की हत्या करवाना चाहता था इसलिए मैंने उसकी हत्या करवा दी। जो तथ्य जांच में आए हैं उससे यह मनगढ़त कहानी मृतक को बताई कि उसके दोस्तों ने एक डकैती की है जिससे सोना लेना है और उसे यह ढाई लाख रुपए चुकाकर मिल जाएगा। मृतक ने कहा कि ढाई लाख की व्यवस्था कर सोना उससे खरीदेंगे। आरोपी राहुल के पास बसु बारिया व राकेश निवासी उबेराव थाना राणापुर आता-जाता रहा था उससे जान-पहचान थी और उसको मैंने कहा कि एक व्यक्ति की हत्या करवानी है। ढाई लाख रुपए में सौदा तय हुआ और पिछले एक पखवाड़े में 10, हजार से 10 हजार, 15 हजार इस तरह से कुल 70 हजार रुपए राहुल पिता रमण नायक बच्चू को दे चुका था। 17 मई को बसु ने राहुल को फोन किया। राहुल पिता रमण नायक ने जो आरोपी है उन्हें फोन किया वह आ रहा है दोनों आरोपी जिन्होंने हत्या की बसु व उसका साथी राकेश घात लगाकर पुलिया के पास बैठे गए। इसके बाद राकेश पिता गुला मेड़ा निवासी रेतालुंजा यहां पूर्व से बैठे हुए थे और एक बियर की बॉटल पी और जैसे ही मृतक आया व उसे जमीन पर धक्का देकर गिरा दिया और पत्थरों से कुचलकर हत्या कर भाग निकले। उसके बाद राहुल ने फोन किया। राकेश पूर्व में एक नकबजनी में झाबुआ थाने में बंद था जो 4-5लाख की थी। दाहोद जिले में भी फरार है, बच्चू पर भी बाइक चोरी में फरार है और भी कई अपराध दोनों शातिर अपराधियों पर दर्ज है। राहुल ने इस सुरेंद्र की हत्या करवाई। इस सनसनीखेज हत्याकांड में पुलिस शुक्रवार सुबह 7 बजे से 19 मई तक जुटी रही और पुलिस को इस हत्याकांड का पर्दाफाश करने में अंतत: कामयाबी हासिल की। इसके लिए एसपी ने हत्याकांड का पर्दाफाश करने में सराहनीय योगदान देने वाले पुलिस कर्मियों को पुरस्कृत किए जाने की घोषणा की। समुचित साक्ष्य घटनास्थल पर मिले उस आधार पर पुलिस ने जांच की।