डकैती की योजना बनाते हुए तीन बदमाश गिरफ्तार, तूफान जीप-बाइक, 12 बोर देशी कट्टा-कारतूस के साथ चार विद्युत मोटरे पुलिसने की जब्त

0
990

झाबुआ लाइव डेस्क-

विगत 4 दिसंबर को मुखबिर द्वारा सूचना प्राप्त हुई की कुछ बदमाश दात्याघाटी में पुलिया के पास गड्ढे में कट्टे, फालिये हथियारबंद होकर राजगढ़ की ओर आने-जाने वाले वाहनों को रोककर डकैती डालने की योजना बना रहे हैं। सूचना पर उनिरीक्षक रमेश कोली, चौकी प्रभारी पारा मय फोर्स प्रआर प्रेमचंद परमार, प्रआर रमेश निनामा, आर करमसिंह, आर बिसेनसिंह, आर एलामसिंह, आर गुलाबसिंह के साथ रवाना होकर दात्याघाटी पहुंचे। जहां एक पेड़ की आड़ से देखा तो दात्याघआटी पुलिया के पास 6 लोग आपस में बात कर रहे थे कि राजगढ़ तरफ से आने वाली कार के सामने रोड पर पत्थर लगाकर उसमें बैठे लोगों की आंख में मिर्ची डालकर कट्टे, फालिये से मारपीट कर उनसे रुपये व रकम छीनना है। इस पर फोर्स द्वारा बदमाशों की चारों ओर से घेराबंदी कर दबिश देकर बदमाशों को पकड़कर उनसे पूछताछ की गई तो उन्होंने अपना नाम होशियारसिंह पिता ज्ञानसिंह 30 वर्ष निवासी बड़ी उत्ती थाना उदयगढ़ अलीराजपुर, बनसिंह पिता हेमराज सिंगाड़़ आयु 30 वर्ष निवासी तालाब के पास तेजारिया, पारसिंह पिता रामसिंह पचाया आयु 35 वर्ष निवासी तेजारिया का निवासी होना बताया। तीनों बदमाशों इसके बाद अंधेरा का फायदा उठाकर रफुचक्कर हो गए। तीनों बदमाशों से भागने वालों का नाम पूछने पर कनसिंह पिता हेमराज सिंगाड़, संजय पिता भुवानसिंह मिनावा निवासी हसलवड़ थाना टांडा, दिनेश पिता जालमसिंह मुजाल्दा निवासी सेमलखेड़ी बताए गए। बदमाशों से एक तूफान जीप, एक यामाहा बाइक बिना नंबर की, 12 बोर देशी कट्टा, मय कारतूस, लोहे का फालिया के साथ मिर्ची पाउडर जब्त किया। वापसी पर आरोपियों के विरुद्ध अपराध धारा 399, 402 भादवि एवं 25 ए, 27 आम्र्स, 25 बी आम्र्स एक्ट का पंजीबद्ध किया है। वहीं आरोपियों ने थाना झाबुआ में धारा 379 भादवि में ग्राम श्यामपुरा नदी में चोरी गई पानी की चार मोटर कीमत 80 हजार रुपए चोरी करना कबूल किया। चारों विद्युत मोटरों को आरोपियों की निशानदेही पर जब्त कर लिया गया। आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया, जहां न्यायालय से पुलिस रिमांड प्राप्त कर पूछताछ करने पर गिरफ्तार शुदा आरोपियों द्वारा अपने साथियों के साथ ग्राम बड़ी हिड़ी, कालीदेवी क्षेत्र में भी एक रात मे 10 पानी की मोटरे कीमत 2 लाख रुपए की चोरी करना स्वीकार किया है।
)