जेएनयू मुद्दे पर भाजपा का धरना-विरोध 21 को

5झाबुआ । शनिवार को सुखदेव विहार कालोनी स्थित जिला भाजपा कार्यालय पर कांगे्रस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी एवं अन्य पार्टी के नेता जिस तरह से जेएनयू मामले को लेकर देशद्रोहियों के पक्ष में खड़े होकर राष्ट्रीय संप्रभुता को चुनौती दे रहे है इस गंभीर विषय को लेकर देश द्रोहियों एवं कांगे्रस के चेहरे को बेनकाब करने क लिये 21 फरवरी को जिले के सभी मंडल मुख्यालयों पर प्रभावी धरना देकर विरोध प्रदर्शन करने की रूपरेखा तय करने के लिये जिला भाजपा अध्यक्ष दौलत भावसार की अध्यक्षता में जिले के सभी मंडल अध्यक्षो, महामंत्रियों, सभी मोर्चा अध्यक्षों, नगरीय निकायों के अध्यक्षों, जिले मे निवासरत प्रदेशस्तरीय पदाधिकारियों की विशेष बैठक का आयोजन किया गया । बैठक में जिला भाजपा अध्यक्ष दौलत भावसार, विधायक शांतिलाल बिलवाल, जिला सहकारी केन्द्रीय बेंक अध्यक्ष गौरसिंह वसुनिया, प्रदेश अजजा मोर्चा महामंत्री कल्याणसिंह डामोर, किसान मोर्चा जिलाध्यक्ष विजय बहादूरसिंह, भाजयुमो जिलाध्यक्ष भानु भूरिया, नगर मंडल अध्यक्ष बबलू सकलेचा, कीर्ति भावसार, श्यम तोहड, गोपालसिंह पंवार, सुनिता वसावा, ओपी राय, ओम प्रकाश शर्मा, दिलीप कुश्वाह, इरशाद कुर्रेशी, छितूसिंह मेडा, जवसिंह परमार, कांतिलाल डावर, मदन भूरा, जितन्द्र पटेल, बंटी डामोर, शंकरलाल राठौर, संजय श्रीवास, मुकेश मेहता सहित बडी संख्या में जिले एवं मंडल तथा मोर्चा के पदाधिकारी उपस्थित थे । बैठक को संबोधित करते हुए जिला भाजपाध्यक्ष दौलत भावसार ने सीहोर जिले के शेरपुर में जिले से किसान महासम्मेलन में जिले से 6 हजार से अधिक किसानों की सहभागिता प्रदेशाध्यक्ष नंदकुमारसिंह द्वारा दी गई जिले को बधाई की जानकारी देते हुए जिले से जो सक्रिय पार्टी पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता नही नही पहूंच पाये के बारे में मंडल अध्यक्षों को निर्देशित करते हुए उनके नाम से अवगत कराने का आग्रह किया ताकि भविष्य में ऐसे बडे आयोजनों में उन्हे सहभागी होने के लिये प्रेरित किया जा सकें भावसार ने प्रदेश भाजपा के निर्देशानुसार 21 फरवरी को जिले के सभी मंडलों में जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में देश द्रोही नारे लगाने वालो तथा कांग्रेस एवं अन्य दल के नेताओं द्वारा इन्हे प्रश्रय देने का जिक्र करते हुए कहा कि ऐसे तत्वों के खिलाफ जनता में सन्देश देने तथा जनता को इनकी वास्तविकता से रूबरू कराने के लिये प्रत्येक मंडल पर रविवार 21 फरवरी को भाजपा द्वारा दोपहर 12 से 2 बजे तक घरना दिया जाकर जनता को सन्देश पहुुंचाया जाएगा। इस अवसर पर उन्होने बताया कि हर मंडल पर जिला स्तर से एक एक वक्ता भी सहभागी होगा । तय किये गये कार्यक्रम के अनुसार झाबुआ नगर मंडल एवं गा्रमीण मंडल का संयुक्त धरना आन्दोलन बसस्टेंड फव्वारा चैक पर आयोजित होगा । रानापुर में पूराने बस स्टेंड पर,कल्याणपुरा में पुराने बस स्टेंड पर, रायपुरिया में झाबुआ चोराहे पर, पेटलवद में साई मदिर के सामने भाजपा कार्यालय परिसर पर, थांदला में आजाद चोक पर, पारा में बस स्टैंड चोराहे, मेघनगर में आजाद चोक, रामा में बस स्टैंड पर तथा खवासा में बस स्टैंड पर भाजपा मंडलों द्वारा विरोध किया जाएगा। भावसार ने मंडल स्तर पर आयोजित इस घरना प्रदर्शन में भाजपा के मंडल स्तरीय सभी भाजपा पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं, पूर्व पदाधिकारियों, मोर्चा प्रकोष्ठों के सभी पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं की सहभागिता सुनिश्चित करने का आग्रह मंडल अध्यक्षो से किया । उन्होने कहा कि जेएनयू दिल्ली में खतरनाक नारे लगाये जारहे है तथा हमारे शहीदों का अपमान किया जारहा है इसे बर्दास्त नही किया जावेगा ।भावसार ने कहा कि 21 फरवरी को मंडल मुख्यालयों के अलावा बडे कस्बों में भी मशाल जुलूस निकाल कर जनता में प्रभावी सन्देश दिया जावेगा । जेएनयू के इस राष्ट्रविरोधी कृत्य को लेकर आज 21 फरवरी को होने वाले धरना प्रदर्शन में मंडल मुख्यालय के अलावा मंडल के बडे कस्बों में भी जनजागृति एवं संदेश पहूंचाने के लिये मशाल जुलुस आयोजित करके देश प्रेम की भावना को जागृत करके ऐसे तत्वों को करारा जवाब देना होगा । उन्होने कांग्रेस को आडे हाथ लेते हुए कहा कि देशद्रोही अफजल गुरू को फांसी की मिली सजा को माफ कराने के लिये कांग्रेस उनका समर्थन कर रही है एवं राष्ट्रपति को याचिका प्रस्तुत कर रही है । उन्होने इस आन्दोलन को सफल बनान कर जनता में संदेश पहूंचाने का आव्हान किया ।
जिला सहकारी बैंक अध्यक्ष गौरसिंह वसुनिया ने विचार व्यक्त करते हुए देशदा्रेहियों द्वारा भारत विरोधी नारे लगाने वालों को मुंहतोड जवाब देने की बात करते हुए राहुल गांधी द्वारा ऐसे तत्वों के समर्थन में आगे आने को देश के प्रति गद्दारी बताया। वसुनिया ने कांग्रेस का असली चेहरा उजागर करने के लिये धरना आन्दोलन में प्रत्येक भाजपा कार्यकर्ता की सक्रिय भूमिका के बारे में आव्हान किया। इस अवसर पर कल्याणसिंह डामोर ने भी अपने विचार व्यक्त किए ।