ऑनलाइन दवा मरीजो के लिये  होगी घातक सिद्ध -शेलेष मांडोत

IMG_20151014_184900 copyIMG-20151014-WA0020
झाबुआ । 
विदेशी और बड़ी पूंजीपति दवा कम्पनियों का  सरकार को ऑनलाइन फार्मेसी के लिये राजी करना न केवल देश भर के 8 लाख केमिस्टो के साथ अन्याय है बल्कि यह व्यापार मरीजो के लिये भी घातक सिद्ध होगी। जिसका हम पुरजोर विरोध करते है।यह बात झाबुआ जिला केमिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष शेलेष मांडोत ने कही । आनलाइन फार्मेसी के विरोध में एआइओसीडी और प्रदेश केमिस्ट एसोसिएशन के आव्हान पर झाबुआ जिला केमिस्ट एसोसिएशन ने अपना व्यापार बंद रखते हुए हड़ताल की तथा बैठक आयोजित की जिसमे  मांडोत ने सभी केमिस्टो का एकजुटता दिखाने के लिए आभार व्यक्त करते हुए आगामी दिनों में किसी भी प्रकार के आन्दोलन में तैयार रहने की बात भी कही । मंचासीन होने के पूर्व शेलेष मांडोत, शशिकांत पंचोली, रवि पोरवाल, बाबुलाल अग्रवाल, डॉ. महेंद्र उपाध्याय, वैद प्रकाश मोदी, लोकेन्द्र बाबेल, विनोद लोढ़ा ने अमर शहीद चंद्रशेखर आजाद और लक्ष्मी के चित्र पर माल्यापर्ण और दीप प्रज्ज्वलित कर बैठक की शुरुआत की ।बैठक में वक्ताओ ने व्यापार में आ रही दिक्कतों के बारे में विस्तार से चर्चा की।

दवा कानून के नियमो का उल्लघंन है
———————–
ऑनलाइन से दवाई बिक्री दवा प्रसाधन कानून 1940 के नियमो का सरासर उल्लघंन है। अभिषेक संघवी , मनोज  बाबेल, दीपक डूंगरवाल,  कमलेश तलेरा , राजेंद्र वाणी, अशोक जैन, रवि पोरवाल, राजेश पोरवाल, पिंटू कांकरिया, पंकज कोठारी ,  राकेश उपाध्याय, संदीप चोपड़ा,  जीतू सेन, ने   इ-फार्मेसी के होने वाले नुकसान के बारे में सदस्यों को बताते हुए कहा की इस तरह के व्यापार से बिना ब्रांड और निम्न स्तर की दवाई बिक्री का रास्ता साफ हो जायेगा ।  प्रारम्भ में पेटलावद ब्लास्ट में मृतको को श्रद्धाजलि  दो मिनिट का मौन रख
कर दी गई ।
प्रभावी उपस्थिति से बंद सफल
एसोसिएशन के आव्हान पर इस आन्दोलन में  करवड़,  बामनिया, खवासा, थांदला , मेघनगर, रंभापुर , मदरानी,  रानापुर, कालीदेवी, पारा, बरवेट, पेटलावद, रायपुरिया , कल्याणपुरा, काकनवानी, परवलिया ,  रजला,  झकनावदा, सारंगी सहित झाबुआ मुख्यालय के सभी खेरची और थोक विक्रेताओ ने  अपनी प्रभावी उपस्थिति दर्ज कराई। संचालन अशोक छाजेड आभार प्रदर्शन दिलीप दवे ने व्यक्त किया।यहाँ सभी केमिस्टो ने निजी चिकित्सक संघ का समर्थन देने के लिए आभार भी व्यक्त किया ।