ऐसे बदलता रहा झाबुआ-रतलाम संसदीय क्षेत्र का चेहरा व आकार, पहले यह विधानसभाएं लोकसभा क्षेत्र में शामिल थी

0
1126

चंद्रभानसिंह भदौरिया, चीफ एडिटर
मौजूदा लोकसभा सीट रतलाम क्रमांक 24 आज जिस रूप में है उस रूप में पहले नहीं थी। इस पूरे लेख में आपको वह नई जानकारी देंगे जो शायद आपने पहले नहीं सुनी होगी। इस जानकारी के पहले आपको बता दें कि वर्ष 2009 के पहले लोकसभा सीट 1952 से लेकर 2009 तक झाबुआ लोकसक्षा (एसटी) सीट के रूप में लिखी जाती थी, तथा बोलचाल की भाषा में इसे झाबुआ-रतलाम लोकसभा सीट कहा जाता था, क्योंकि उस समय अलीराजपुर जिला झाबुआ जिले का ही एक हिस्सा रहता था। लेकिन 2009 के लोकसभा चुनाव से इसे अब रतलाम लोकसभा सीट क्रमांक 24 का नाम दे दिया गया है। लेकिन आम बोलचाल की भाषा में इसे अभी भी झाबुआ-रतलाम संसदीय सीट कहा जाता है।

1952 में यह विधानसभा क्षेत्र झाबुआ लोकसभा का हिस्सा थी-
1952 में पहली लोकसभा के लिए जब झाबुआ आरक्षित सीट के लिए चुनाव हुआ तो इसमें 9 विधानसभा शामिल हुआ करती थी, इनमें मनावर नार्थ, मनावर साउथ, कुक्षी, अलीराजपुर, जोबट, सरदारपुर, झाबुआ, थांदला एवं सैलाना।

1957 में फिर बदला स्वरूप-
1957 में दूसरी लोकसभा के लिए हुए मतदान के पहले लोकसभा के स्वरूप में फिर बदलाव किया गया। इस बार रतलाम जिले का सैलाना झाबुआ सीट से हटा दिया गया, और मनावर इस्ट, मनावर वेस्ट, कुक्षी, सरदारपुर, अलीराजपुर, जोबट, थांदला एवं झाबुआ यह आठ सीटे शामिल थी और पेटलावद की सीट झाबुआ संसदीय क्षेत्र का हिस्सा नहीं थी।

1967 में पेटलावद हुआ क्षेत्र में शामिल-
1967 में जब चौथी लोकसभा के लिए चुनाव हुए तो फिर से झाबुआ लोकसभा सीट के लिए परिसीमन किया गया, परिसीमन के बाद मौजूदा धार जिले की मनावर नॉर्थ, साउथ, कुक्षी, सरदारपुर सीटे हटा दी गई और उसके बाद जो नया स्वरूप बना उसमें इस संसदीय क्षेत्र में अलीराजपुर, जोबट, झाबुआ, थांदला, पेटलावद, रतलाम शहर, जावरा एवं सैलाना विधानसभा सीटे शामिल की गई।

1977 में मिला मौजूदा स्वरूप-
वर्तमान समय में झाबुआ संसदीय क्षेत्र में आठ विधानसभाएं आती है, जिसमें झाबुआ, थांदला, पेटलावद, रतलाम शहर, रतलाम ग्रामीण, सैलाना, अलीराजपुर एवं जोबट शामिल हैं। यह स्वरूप 1977 के परिसीमन में इस संसदीय क्षेत्र को मिला, जो आज दिनांक तक बरकरार है।

विथ स्पेशल इनपुट : दिनेश वर्मा/विपुल पंचाल/अब्दुल वली पठान
)

ऐसे बदलता रहा झाबुआ-रतलाम संसदीय क्षेत्र का चेहरा व आकार, पहले यह विधानसभाएं लोकसभा क्षेत्र में शामिल थी