आचार संहिता लगने के बाद भी सक्रिय है अवैध शराब के ब्लैकर

झाबुआ लाइव रायपुरिया से लवेश स्वर्णकार  

aviadh-sharabरायपुरिया में लाइसेंसी फ़ीस न भरने के कारण नरेंद्र नायक का रायपुरिया, झकनावदा,  और कालीदेवी शराब दुकान का ठेका निरस्त किया गया था उसके बाद अब आबकारी विभाग ही रायपुरिया की शराब दुकान को चला रहा हे । आबकारी विभाग के दो जवान शराब की दुकान पर बेठे हुवे है। जब से आबकारी विभाग के अंडर में ये दुकान आई हे तब से क्षेत्र के गांव गांव में शराब की अवैध बिक्री जोरो से होने लगी हे रायपुरिया और अंचल के ग्राम बनी बोलसा तारखेड़ी गरबाखेड़ी सेमरोड झकनवद तक में शराब की बिक्री जोरो से हो रही हे कहने को रायपुरिया की शराब दुकान आबकारी विभाग चला रहा क्षेत्र है। परन्तु आबकारी विभाग की शराब की दुकान के आलावा क्षेत्र  में अवेध शराब की बिक्री होना निश्चित ही आबकारी की कार्यप्रणाली पर प्रश्न उठाने को मजबूर करता हे आदर्श आचार सहिता लग जाने के बाद क्षेत्र में अवैध  शराब का परिवहन होना अवेध शराब की बिक्री होना और आबकारी विभाग का मूकदर्शक बने रहना समझ से परे है। छेत्र के हमारे सूत्र तो ये भी बताते हे की आबकारी विभाग के अधिकारियो ने कमिसन पर कुछ लोगो से क्षेत्र में मोटरसायकल से शराब गांव गांव की  अवैध शराब दुकान तक पेटियो बंद पंहुचाया जा रहा हे अब जिस विभाग को आचार संहिता में अवेध शराब की धरपकड़ करना या जिन्हें इसी के लिए बैठाया गया हे वही अवैध शराब की बिक्री और अवेध परिवहन पर रोक नहीं लगाये तो इनसे कार्यवाही की उम्मीद नहीं की जा सकती हे।

आबकारी के अधिकारी दे रहे सफाई

दूसरी और क्षेत्र  के आबकारी विभाग के अधिकारी सबइंस्पेक्टर रुणवाल साहब की बात मानी जाय तो उनका कहना हे की रायपुरिया शराब की दुकान आबकारी विभाग ही चला रहा हे और किसी प्रकार से आबकारी विभाग कही कोई शराब नहीं पहुचा रहा हे । यदि कोई अवैध  शराब की बिक्री कर रहा हे तो कार्यवाही करेंगे उन्होंने तो ये तक कह दिया की आबकारी विभाग द्वारा क्षेत्र है। अवैध शराब की बिक्री करवाना गलत खबर हे और यदि ये सही हे तो इसे साबित करके बताओ । मान लिया रुणवाल साहब की रायपुरीया की शराब दुकान से आबकारी विभाग कोई शराब गांव गांव नहीं पंहुचा रहा  है  तो फिर रायपुरिया और अंचल में अवैध शराब गांव गांव कैसे बिक रही हे ऐसा भी नहीं की छेत्र में अवेध शराब के ब्लैकर नहीं हे रुणवाल साहब ये तो आबकारी विभाग स्वयं जनता हे की कहा और किस गांव में कौन कौन ब्लैकर हे समय समय पर आपके आबकारी विभाग और रायपुरिया पुलिस ने भी इन ब्लैकरो पर आबकारी एक्ट में कार्यवाही की हे। तो अब और क्या सबूत आपको दे। यदि आबकारी विभाग क्षेत्र में क्षेत्र अवैध रूप से शराब नहीं पंहुचा रहा तो अवेध रूप से शराब पहुचाने और बेचने वालो पर आबकारी विभाग मेहरबानी क्यों दिखा रहा  है।  यदि आबकारी विभाग वाकई में ईमानदारी से रायपुरिया में शराब दुकान चला रहा हे तो फिर बईमानी से या कहे की अवेध रूप से बिक रही अवेध शराब बिक्री और परिवहन पर रोक लगाकर उन पर कार्यवाही क्यों नहीं कर रहा हे कार्यवाही हो तभी आबकारी विभाग की ईमानदारी दिखाई देगी परंतु अभी तो बस यही दिख रहा हे और हो भी रहा हे की रायपुरिया में आबकारी की दुकान होने के बाद भी क्षेत्र  अवैध  शराब बिक्री का अड्डा बना हुवा है।

पेटलावद से बरवेट के रास्ते जामली बेकलदा होकर आ रही अवेध शराब

जब से आबकारी विभाग के हाथो में रायपुरिया की शराब दुकान दी गई हे तब से रायपुरिया और इससे जुड़े क्षेत्र  के हर कोने कोने में अवेध शराब के तस्कर ब्लैकर सक्रीय हो गए हे और आबकारी विभाग रायपुरिया की शराब दुकान पर बेठ कर अपनी ड्यटी निभा रहा हे जामली बेकलदा के हमारे सूत्र बता रहे हे की पेटलावद से बरवेट के रास्ते बरवेट जामली बेकलदा पांचपीपला देवली ग्रामो में अवेध शराब के ब्लैकर इतने सक्रिय हे की दिन दहाड़े इस इलाके में  अवैध शराब का कारोबार हो रहा हे और आबकारी विभाग हाथ पर हाथ धरे बेठा हुवा हे ।