आईटी सेल अध्यक्ष के घर से शराब बरामद कर गिरफ्तार करने के मामले में कांग्रेस ने चक्का जाम कर लगाए साजिश के आरोप

0
1029

 रितेश गुप्ता @ थांदला

कांग्रेस के थांदला विधानसभा के आईटी सेल के अध्यक्ष रुस्माल मेडा पर पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई के विरोध में थांदला नगर एवं झाबुआ ,पेटलावद ,लिमडी मार्ग को जाने वाले चौराहे पर कांग्रेस द्वारा चक्का जाम प्रदर्शन किया गया। तकरीबन 3 घंटे तक चले प्रदर्शन के उपरांत समझाइश एवं कांग्रेसियों की 3 दिन मैं उचित एवं निष्पक्ष कार्यवाही की मांग के पश्चात कांग्रेस द्वारा धरना समाप्त किया गया। धरना एवं चक्का जाम प्रदर्शन के दौरान झाबुआ मार्ग एवं पेटलावद मार्ग पर वाहनों की लंबी कतारें लग गई।

यह था मामला

थांदला थाना प्रभारी कौशल्या चौहान के साथ पुलिसकर्मियों द्वारा मुखबिर की सूचना पर कांग्रेसी कार्यकर्ता जो कि ग्राम बीड़ महूडी पाड़ा के निवासी हैं के निवास स्थान पर गुरुवार रात्रि तकरीबन 12 बजे , पहुंच कर अवैध शराब रखने की सूचना पर मकान की तलाशी ली गई । पुलिस के अनुसार रुषमाल पिता बालू मईडा घर की तलाशी लेने के दौरान घर की छत पर त्रिपाल में ढकी हुई अवैध शराब की 8 पेटियां एवं बोतल पाई गई जिसमें 67.68 बल्क लीटर शराब जिसकी कुल कीमत ₹20560 है मौके पर पाई गई । जिस पर कार्रवाई करते हुए पुलिस द्वारा रुसमाल मैडा को गिरफ्तार कर थाना थाना लाया गया एवं मामला पंजीबद्ध किया गया।

उक्त कार्रवाई के विरोध में कांग्रेसी कार्य कार्यकर्ताओं द्वारा सबसे पहले पुलिस थाना थाना का घेराव शुक्रवार प्रातः किया गया, परंतु यहां बात न बनने पर वह युवा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष विक्रांत भूरिया के आने के उपरांत नगर के प्रवेश द्वार एवं पेटलावद लिमडी झाबुआ चौराहे पर चक्का जाम कर दिया। कांग्रेस के पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं का कहना है कि उक्त कार्यवाही में किसी प्रकार की सच्चाई नहीं है कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को जानबूझकर फंसाया जा रहा है एवं पंचायत चुनाव के मद्देनजर ही भाजपा द्वारा पुलिस के साथ मिलकर ऐसी कार्रवाई की जा रही है। 2.30 से 3 घंटे चले इस चक्का जाम के उपरांत एसडीएम अनिल भाना एवं एसडीओपी चक्का जाम स्थल पर पहुंचे , जहां ज्ञापन सौंपने के उपरांत एवं उचित कार्रवाई की मांग के उपरांत चक्का जाम समाप्त किया गया। चक्का जाम के दौरान यूथ कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष विक्रांत भूरिया , विधायक वीर सिंह भूरिया, जनपद अध्यक्ष गेदाल डामोर, नगर परिषद उपाध्यक्ष मनीष बघेल, राजेश डामोर, आनंद भाबर, सुधीर भाबर ,सुनील चरपोटा सहित बड़ी संख्या में कांग्रेसी कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी उपस्थित रहे।

कांग्रेस ने कहा भाजपा की साजिश

विधायक वीर सिंह भूरिया ने उक्त कार्रवाई को भाजपा के द्वारा संचालित कार्रवाई बताया, उन्होंने कहा कि पंचायत चुनाव के पूर्व हमारे कार्यकर्ताओं को परेशान करने हेतु भाजपा द्वारा पुलिस से मिलकर अनुचित कार्रवाई की जा रही है। साथ ही कहा कि पुलिस द्वारा अगर निष्पक्ष कार्यवाही नहीं की गई तो वह 2 से 3 दिन में उग्र आंदोलन करेंगे।

चक्का जाम में युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष विक्रांत भूरिया भी पहुंचे जिन्होंने कहा कि भाजपा के कहने पर पुलिस द्वारा कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को जानबूझकर फंसाया जा रहा है, रुस्माल मेडा जो कांग्रेस आईटी सेल के अध्यक्ष हैं वह सरपंच पद के दावेदार भी हैं, उन्हें फंसा कर कांग्रेश के मजबूत कार्यकर्ताओं को दबाने का प्रयास किया जा रहा है, पुलिस द्वारा अगर न्याय उचित कार्रवाई नहीं की गई तो 3 से 4 दिन में जिला स्तरीय चक्का जाम थाना नगर में किया जाएगा।

एसडीओपी एमएस गवली – कांग्रेस द्वारा लगाए गए अनुचित कार्रवाई के आरोपों का खंडन करते हुए एसडीओपी एमएस गवली ने बताया कि कार्यवाही पूरी तरह से मुखबिर की सूचना के आधार पर की गई है, पूरे घटनाक्रम का वीडियो फुटेज बनाया गया है, लगाया जा रहा आरोप निरर्थक है । प्रकरण पंजीबद्ध कर दिया गया है एवं संबंधित आरोपी को न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया जावेगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here