अब वोटों के सौदागरों की खैर नहीं, कांग्रेस करेगी बेनकाब: कांतिलाल भूरिया

congressrally-ss-20-11-13झाबुआ। रतलाम-झाबुआ संसदीय क्षेत्र के कांग्रेस प्रत्याशी कांतिलाल भूरिया ने कहा कि मतदाताओं की नाराजगी, हर मोर्चे पर भाजपा सरकार की विफलता, व्यापमं जैसे बड़े घोटालों और प्रदेशव्यापी भारी भ्रष्टाचार के भी चुनावों में भाजपा की आश्चर्यजनक जीत का रहस्य अब खुल गया है। दरअसल भाजपा वोटों के मौजूद रहते हुए भी सोदागरों और सरकारी तंत्र में बैठे उसके समर्थकों के बूते पर चुनाव जीतती रही है। ऐसी बोगस जीत के आधार पर लोकपियता का झूठा दावा करके भाजपा लोगों को भ्रमित करती है। कांग्रेस अब भाजपा के इस भूमिगत गोरख धंधे की तह तक पहुंच चुकी है।

मैदानी कार्यकर्ताओं लगातार नजर

भूरिया ने कहा कि रतलाम-झाबुआ संसदीय क्षेत्र के उपचुनाव में इस गौरख धंधेे को नहीं चलने दिया जाएगा। भाजपा की जीत के लिए काम करने वाले वोटों के इन सोदागरों के काले चेहरों को बेनकाब करने के लिए कांग्रेस द्वारा पूरे संसदीय क्षेत्र के तीनों जिलों में व्यापक अभियान चलाया जा रहा है। भय, प्रलोभन और धार्मिक भावनाओं को भड़काकर आगामी उपचुनाव में भाजपा को वोट दिलवाने वालों पर कांग्रेस पदाधिकारियों और पार्टी के मैदानी कार्यकर्ताओं की टीम की दिन-रात लगातार नजर रहेगी। भूरिया ने कांग्रेस की इस रणनीति का ब्यौरा देते हुए बताया है कि भाजपा राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ, संस्कार भारती आदि अपने कई सहयोगी संगठनों के जरिये चुनाव के दिनों में गोपनीय तरीके से भाजपा के पक्ष में प्रचार करती है और ये संगठन लालच, भ्रम और धर्म के जरिये मतदाताओं को गुमराह करके उनके वोटों की सौदागरी करते हैं।

‘‘पाप कर्म’’ के साथ जुड़े हैं

 

भाजपा और इन संगठनों के कार्यकर्ता चिकनी-चुपड़ी बातें करके लोगों घरों में घुस जाते हंै और ऐन केन प्रकारेण मतदाताओं को भाजपा उम्मीदवार को वोट देने का वादा लेकर ही बाहर निकलते हैं। वह आदिवासियों को देवी-देवताओं के नाम पर बहकाने से भी बाज नहीं आते। इस तरह वे मतदाताओं को अपने मताधिकार का स्वतंत्रतापूर्वक उपयोग करने से वंचित कर लोकतंत्र को कमजोर करने का घृणित पाप करते हैं। रतलाम-झाबुआ संसदीय क्षेत्र का चार बार प्रतिनिधित्व कर चुके उपचुनाव में कांग्रेस के अधिकृत प्रत्याशी भूरिया ने कहा है कि विधानसभा, लोकसभा और नगरीय निकायों के पिछले चुनावों के अनुभवों के आधार पर वोटों के ऐसे सौदागरों की बहुत कुछ पहचान कर ली गई है और उपचुनाव को देखते हुए जो नये लोग इस ‘‘पाप कर्म’’ के साथ जुड़े हैं, उनकी पहचान के लिए कांग्रेस इन दिनों झाबुआ, रतलाम और अलीराजपुर जिले में व्यापक अभियान चला रही है। जिन सौदागरों की पहचान होगी उनके काले चेहरे और लोकतंत्र विरोधी काले कारनामें विभिन्न माध्यमों से क्षेत्र के मतदाताओं के सामने बेनकाब किये जाएंगे। जो सरकारी अधिकारी एवं कर्मचारी भाजपा के पक्ष में किसी भी प्रकार का काम करते पहचाने जाएंगे, उनको किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा।