Top

48 घंटों में झमाझम बारिश नदी-नाले उफान पर, चार माह पूर्व बनाया पुल भी हुआ क्षतिग्रस्त

0

बरझर से इरसाद खान

बरझर क्षेत्र में पिछले 48 घंटों से झमाझम बारिश ने सात साल पहले हुई बारिश का रिकॉर्ड तोड़ दिए, सभी आसपास के नदी नाले उफान पर है रहवासी बरसात होने के चलते नागरिक अपने घरों में दिखाई दिए। बरझर कस्ब सहित आसपास के लगे क्षेत्र मे भारी बारिश हो रही है जिसके चलते जिस तरह से हर वर्ष आदिवासी दिवस पर रैली मे रौनक रहती वह दिखाई नहीं दी। वही प्रधानमंत्री सड़क की पुलिया पहली बारिश मे क्षतिग्रसस्त हो गई। वही पंचायत द्वारा स्टाप डेम के गेट नही खोले जाने के चलते किसानो की फसले चोपट हो गई। बरझर से कट्ठीवाडा फाटक तक 9 किलो मीटर चशे आजाद नगर को जोडऩे वाली सड़क का पुलिया क्षतिग्रस्त हो गया जो चार माह पहले प्रधानमंत्री संडक कि देख रेख मे ठेकेदार द्वारा निर्माण किया गया था । साथ ही साईट की दोनो ओर की पट्टियां भी रोलर के सही दबाव ना होने से बह गई जिससे वाहन चालको को दुर्घटना का भय है।

जिले मे भारी बारिश के चलते मुआयना करने पहुंचे कलेक्टर

कलेक्टर सुरभि गुप्ता पुल के किनारे इंतजार के बाद लौटी

जिले के कलेक्टर सुरभि गुप्ता क्षेत्र में भारी बारिश के चलते चशे आजाद नगर व बरझर का आकस्मिक दौरा किया परन्तु कस्बा बरझर की रपट पर पानी के बहाव के चलते गांव में नही आ सके ओर अपना वाहन नदी के किनारे से पलटा कर सेजावाडा मार्ग से आजाद नगर रवाना हो गए।

कलेक्टर उस किनारे से तो एसडीएम इस किनारे से पलट कर हुए रवाना
जिले मे भारी बारिश को देखते सबेरे जिला कलेक्टर ने बरझर का दौरा किया बरझर कस्बे की रपट में तेज बहाव के चलते कस्बे मे न कर लौट गए। वही दोपहर मे एसडीएम संजीव कुमार पांडे, तहसीलदार यशपाल मुजाल्दा, जनपद सीईओ मनोज निगम ने बरझर का दौरा कर ग्रामीणों से जानकारी ली। साथ ही आजाद नगर जाने लगे तो कस्बे की रपट पर पानी के बहाव से बडगाव कटठीवाड़ा सड़क मार्ग से अपने वाहन गुजारना पड़े।

एसडीएम पहुंचे क्षतिग्रस्त पुलिया देखने

चार माह पहले बनाई गई पुलिया टूटी, एसडीएम जांच करते हुए

भारी बरसार के चलते बरझर से कटठीवाडा सड़क पर स्थित पुलिया का मौका मुआयना कर ग्रामीणो से चर्चा कर ग्रामीणों से पूछा कि यह बने कितना टाईम हुआ तो आसपास के रहवासियों ने कहा कि सिर्फ चार माह हुए यह पुल तैयार हुए और अब यह क्षतिग्रस्त अवस्था में है। जिसे एसडीएम ने कलेक्टर को अवगत करवाया। साथ ही पुलिया के आसपास पत्थर रहकर वाहनों को गुजरवाया।

स्टापडेम की शटर नहीं खुलने से आसपास के खेतों में घुसा पानी
बरझर कस्बे की रपट से 100 मीटर की दूरी पर स्टाप डेम है, वही ग्राम पंचायत द्वारा स्टापडेम के गेट नही खोलने के चलते किसानो के खेत मे पहुंच गया जिससे किसानो की फसले चोपट हो गई।

बारिश का मौसम चोरों के लिए मुफीद
लगातार दो दिनों से रात्रि में भारी बारिश का फायदा जमकर उठाने में मशगुल है। चोरों ने पत्रकार उमेश साहू, भरत साहू व शंकरलाल राठौड़ की पल्सर बाइक चुराकर भाग गए, सुबह जब वे उठे तो मालूम पड़ा कि बाइक गायब है।
)

Leave A Reply

Your email address will not be published.