विशाल चल समारोह निकाल कर बप्पा को दी धूमधाम से विदाई

0
242

भूपेंद्रसिंह नायक, पिटोल
गणपति अपने घर चले अगले बरस तू जल्दी के जय घोष के साथ पिटोल में भी गणपति बप्पा के विसर्जन के लिए सभी पंडालों के द्वारा भव्य रुप से तैयारी की गई थी जिसके चलते पिटोल के सभी मोहल्ले में विराजित गणपति बप्पा को अपने अलग-अलग तरीके से ट्रैक्टर ट्राली और पिकअप वाहनों में रखकर सभी गणेश जी की मूर्तियों को विसर्जित करने के लिए कुंदनपुर चौराहे पर एकत्रित होकर डीजे बैंड नासिक ढोल ताशा पार्टी आदिवासी नृत्य पार्टी के साथ सभी पंडालों के लोग अपने अलग व्यवस्था के साथ जिसमें बाल गणेश मंडल बाजार द्वारा ताशा पार्टी वही हवेली के राजा के लिए नासिक ढोल तथा डीजे की व्यवस्था की गई। वही गारी मोहल्ला में आदिवासी नृत्य द्वारा पार्टी एवं सरपंच फलिया के गणेशजी के लिए आदिवासी ढोल मांदल की व्यवस्था की गई। वही पिटोल में मालटोडी मोहल्ले के गणेशजी की मूर्ति सबसे बड़ी थी, माल टोडी के लोगों द्वारा गणेशजी विसर्जन करने के लिए डीजे और बैंड की व्यवस्था की थी। माल टोडी के गणेशजी जैसे शंकर मंदिर से निकले माल टोडी के लोगों ने घर-घर आरती कर बप्पा को विदा किया। करीब दस जगहों की गणेश विसर्जन में विशाल चल समारोह निकाला गया। इस विसर्जन कार्यक्रम में सभी पंडालों द्वारा अलग-अलग कलर के 20 क्विंटल गुलाल की व्यवस्था एवं तोप द्वारा फूलों फूलों को उड़ाने की व्यवस्था की गई थी। पूरे नगर की सड़के गुलाल एवं फूलों से ढक गई थी, सभी मूर्तियों को शाम 6.30 बजे तक पिटोल से 8 किलोमीटर दूर मोदी पर विसर्जित कर दिया गया। गणेश जी की स्थापना से विसर्जन तक के दिनों में पिटोल में विराजित सभी पंडालों में अलग अलग धार्मिक एवं सांस्कृतिक आयोजनों का को किया गया, जिसमें हवेली के राजा के पंडाल में सबसे ज्यादा आकर्षक का कार्यक्रम नन्हे-मुन्ने बच्चों द्वारा शानदार नृत्य की प्रस्तुति समिति द्वारा बच्चों को आकर्षक इनाम भी दिए गए। विसर्जन के दिन सभी पंडालों में भव्य आयोजन किया गया।
)