वाहन चोर गिरोह का पर्दाफाश, 5 लाख रुपए कीमत की चोरी की मोटर साइकिले बरामद

0
803

जितेंद्र वाणी, नानपुर
विगत दिनों कस्बा नानपुर एवं आसपास के क्षेत्रों में वाहन चोरियां निरंतर हुई। इसे गंभीरता से लेते हुए जो एसपी अलीराजपुर के निर्देशन एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बिंदु सागर, एसडीओपी आरसी भास्कर के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी नानपुर मोहन सिंह डावर के नेतृत्व में वाहन चेकिंग अभियान चलाया। इस दौरान मुखबिर से सूचना मिली कि दो व्यक्ति बिना नंबर की मोटरसाइकिल लेकर कदवाल भगोरिया मैदान स्कूल के पास आकर बाइक को करीब 10 हजार रुपए में बेचने का सौदा कर रहे हैं। जिस पुलिस टीम ग्राम कदवाल पहुंची और जो व्यक्ति जीवन सिंह पिता थान सिंह तड़वाल 24 वर्ष निवासी भित्ती, जमीर पिता जाम सिंह गढ़वाल 22 वर्ष निवासी भित्ती को शंका के आधार पर पकड़कर पुलिस ने पूछताछ शुरू की। प्रारंभ में वह पुलिस को गुमराह करते रहे। लेकिन सख्ती से पूछताछ करने पर मोटरसाइकिल चोरी की होना स्वीकार किया। एवं अपने साथियों के साथ मिलकर करीब 9 मोटरसाइकिल चुराने की जानकारी दी। तथा अपने साथी दिलीप पिता भावना गिराला निवासी भित्ती को मोटरसाइकिल भेजना बताया जो पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार करके उनके कब्जे से ना मोटरसाइकिल कीमती पांच लाख रुपये धारा 41,1/4 102 जाफौ 379,411 भादवि में जब्त की। उक्त जब्त शुदा मोटरसाइकिले ने थाना क्षेत्र नानपुर, जोबट, चांदपुर, कुक्षी, इंदौर, बड़वानी, धार उक्त चोरों ने चोरी करने का स्वीकार किया। मोटरसाइकिल मालिकों के नाम पते, जो चोरी हुई थ, नदीम खान, निवासी जोबट शांतिलाल पिता बापू सिंह निवासी नारलाई, इंदौर नरेश चंद्र पिता त्रिलोक चंद्र चौधरी निवासी महात्मा गांधी मार्ग कुक्षी, संकर पिता कालिया गफार निवासी बलदेव पुरा पोस्ट मोहनपुरा, लक्ष्मण पिता थान सिंह, निवासी धूल खेड़ा, रविन्द्र पिता कालू सिंह चौहान निवासी जल खेड़ा, तहसील राजपुर सुरेन्द्र पिता गणपतराव निवासी श्रद्धानंद मार्ग कुक्षी थाना, नानपुर गिरफ्तार आरोपी, ज्ञानसिंह जितेंद कदवाल 24 वर्ष निवासी भी गंभीरता जाम सिंह कदवाल 22 वर्ष निवासी भीती, दिलीप भावना भी लाला 20 वर्ष निवासी विधि, वाहन चोर गिरोह भीड़भाड़ वाले इलाकों में जाकर मोटरसाइकिल चोरी करते थे, जैसे व्यक्ति अपनी मोटरसाइकिल खड़ी करके अपने काम के लिए जाता था वह गिरोह के सदस्य उसका पीछा करके करते थे वह वापस आ रहा है या नहीं एवं एक आरोपी भाई के पास खड़े रहते थे। वह बाइक उठाकर ले जाते थे और उनके बाद गाड़ी को अन्य चोर कर फरार हो जाते थे। पुलिस ने उक्त चोरों का पुलिस रिमांड मांगा है। इस कार्रवाई में थाना प्रभारी नानपुर मोहन सिंह डावर, बाबूलाल, सुरेन्द्र, ईश्वर, सुनील, बलवंत, सुरेश, प्रवीण, सुनीता, आस्था, संजू का विशेष योगदान रहा। थाना प्रभारी नानपुर, मोहन डावर उनकी टीम का सराहनीय कार्य रहा है इसकी। एसपी ने पुलिस को पुरस्कृत करने की घोषणा की है।
)