भक्तों ने धूमधाम से मनाई संत रविदास जयंती, ग्राम में निकली विशाल शोभायात्रा

0
172

विपुल पंचाल @ 
मदरानी  निर्गुण भक्तिधारा के मूर्धन्य
कवि प्रमुख समाज सुधारक “मन चंगा तो कठौती में गंगा” तथा “का मथुरा का द्वारिका का कासी हरिद्वार । रविदास खोजा दिल आपना, तउ मिलिया दिलदार” ।। जिव्हा सो ओंकार जप, हत्थन सौ कर कार राम मिलिहि घर आइ कर, कहे रविदास विचार।।जैसी रचनाओं से आडंबरों का पुरजोर खंडन करने वाले व दबे ,कुचले ,शोषित, पीड़ित समाज को मुख्यधारा से जोड़ने हेतु पराधीनता पाप है,जान लेहू रे मीत।
रविदास दास पराधीन सौ, कौ करै है पीत।।
पराधीन को दीन क्या , पराधीन बेदीन।
रविदास दास पराधीन कौ सबही समझै हीन।।
ऐसा चाहौ राज में , जहाँ मिले सबन कौ अन्न।
छोट बड़ो सभ सम बसै, रविदास रहै प्रसन्न।

जैसी उत्तेजित कर देने वाली रचनाओं से सामाजिक समरसता क्रांतिकारी विचारों के धनी एवम समाजवादी विचारधारा के पुरोधा कर्म ही पूजा है के गुरुमंत्र को जन सामान्य में स्थापित करने वाले सरल, सहज सामाजिक चिंतक संत कबीरदास के गुरुभाई व मेवाड की महारानी मीराबाई के आध्यात्मिक गुरु जिनकी रचनाओं का समावेश गुरुग्रंथ साहिब जैसे सतनाम के प्रमुख ग्रंथ में किया गया है ऐसे उपमातित निडर,साहसी,कर्मवीर जिन्होंने किसी भी सल्तनत के आगे अपने को अडिग कर मानव समाज को हक एवम हलाल की कमाई की सिख देने वाले महान दार्शनिक, दूरदृष्टा, युग पुरुष परमपूज्य गुरुदेव संत शिरोमणि रविदासजी महाराज की जयंती राजस्थान गुजरात व मध्यप्रदेश के संधिक्षेत्र मदरानी एवम थांदला में बड़े ही हर्षोल्लास से मनाई गई जिसमे समाज के असंख्य युवा-युवती बुजुर्गो एव बच्चो ने शिरकत की डीजे एव बग्गी में पूज्य गुरुदेवजी की शानदार मनोहारी झांकी निकाली गई व भक्तिमय संगीत के साथ गरबो भजन एवमगुरु मेरी पूजा गुरु भगवंता गुरु गोविंद गुरु मेरा पारब्रह्म जैसे श्रेष्ठ गुरु भक्तिमय भजनों के साथ सांस्कृतिक विधा में नाच खेल आदि करते हुए निकली गई जिसमे ज्ञान की धरा कर्म की भूमि सांस्कृतिक पृष्ठभूमि के प्रमुख नगर मदरानी में विभिन्न धर्मावलंबी व समाज के लोगो द्वारा समरसता का परिचय देते हुए सम्मान में पुष्पवर्षा कर गुरुचरर्नो में नतमस्तक हो सर्वहारा वर्ग के उत्थान की कामनाओं के साथ कई गणमान्य लोगो ने जुलूस में भाग लिया कार्यक्रम में काकनवानी, रंभापुर, मोरझरी, इटावा परवलिया,खच्चरटोडी सहित क्षेत्र के कई ग्रामीण युवाओं ने भाग लिया। कार्यक्रम में श्यामा ताहेड,सेवा डामोर सहित बाबूलाल चावड़ा, अमीचंद चौहान,मणिलाल,मडू,अंबाराम,धर्मेंद्र धमानीया,नगीन,मुकेश,कन्नू शामिल हुए टीना, बंशी, तरुण ,महेंद्र ,चंपालाल सुमित, पंकज, डाड़म सहित कई नवयुवक युवतियां आकर्षक परिधान में नाचते हुए पुष्पवर्षा व आतिशबाजी करने के साथ वीडियो, फोटो, सेल्फी एव ड्रोन केमरे से कार्यक्रम की व्यापक रिकॉर्डिंग की गई । पुलिस व स्थानीय जनता का भरपूर सहयोग होने से समाज के  शंकर चौहान एव रघुनाथ धमानिया व अमीचंदचौहान ,नगीन चौहान, प्रवीण धमानिया ,भुरा चौहान , कालूजी धमानिया ने आभार माना ।कार्यक्रम का समापन गंगा आरती व गुरु वंदना के साथ भोजन प्रसादी व सामूहिक सहभोज के उपरांत किया गया।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here