त्योहारी ग्राहकी मंदी, क्षेत्र से श्रमिकों का पलायन बना चिंता का सबब

0
161

जितेंद्र वाणी, नापुर
पर्वों की शुरुआत हो चुकी है एवं देश का प्रमुख नवरात्रि के पश्चात कल दशहरा पर्व मनाया गया। प्रमुख पर्वों के चलते क्षेत्र के बाजारों में सन्नाटा पसरा हुआ है। कारण है पर्वों के बाद भी जिले से प्रमुख बस स्टैंडों से पलायन जारी है। ग्रामीण श्रमिक काम की तलाश में गुजरात-राजस्थान के साथ साथ मध्यप्रदेश के अन्य शहरों की ओर रुख कर रहे हैं। इन सबके चलते व्यापारी वर्ग खासा चिंतित नजर आ रहा है। व्यापारियों की चिंता इसलिए भी दोगुनी हो गई है कि उन्हें उम्मीद थी कि नवरात्रि के बाद दशहरा तक बाजार गुलजार होंगे और ग्रामीण वर्ग आगामी दीपावली पर्व को लेकर खरीदी-बिक्री करेगा लेकिन अभी तक बाजारों में सूनापन होने का नानपुर व आसपास के क्षेत्रों के श्रमिक बड़ी संख्या में सोयाबीन काटने के लिए धार, बड़वानी, खंडवा की ओर रुख कर रहे हैं। सूत्रों की मानें तो इन श्रमिकों को इन शहरों व प्रांतों में अच्छी खासी प्रतिदिन की मजदूरी मिल रही है जिससे वह यहां से जीप, बसों से पलायन कर रहे हैं। वहीं श्रमिकों का मजदूरी के लिए जाने पर छोटे बच्चे जो स्कूल जा रहे हैं उनकी पढ़ाई पर असर विपरीत असर दिखाई दे रहे हैं कि उनके परिजन अन्य शहरों की ओर चले जाते हैं जिसके बच्चे स्कूल नहीं जा पाते हैं। बहरहाल अब व्यापारियों को उम्मीद है कि जिले के श्रमिक दीपावली के पूर्व अपने घरों की ओर लौटेंगे जिसके बाद एक बार फिर से बाजार में खरीददारों की रौनक लौटेंगी।
)

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here